DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिले के चार मेधावियों ने आईआईटी में मारी बाजी

जिले के चार मेधावियों ने आईआईटी में मारी बाजी

आईआईटी एडवांस में जिले के चार मेधावियों ने सफलता का परचम लहराया है। इन मेधावियों का इंटर के साथ ही आईआईटी में सेलेक्शन होने से अभिभावक और शिक्षकों के साथ साथ शुभचिंतकों में खुशी की लहर है। इन होनहारों को सभी ने उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी है।

कंपटीशन की तैयारी करने वाले ज्यादातर छात्र छात्राओं में हमेशा यह सोच रहती है कि यदि आईआईटी में दाखिला लेना है तो बांदा छोड़कर बड़े शहरों कोटा, कानपुर आदि महानगरों को जाना पड़ता है। लेकिन जिले के इन चार होनहारों ने इसे गलत साबित कर दिया है। भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक आईआईटी एडवांस में पहले प्रयास में कक्षा 12 के साथ साथ अपने गृहजनपद में रहकर आईआईटी में सफलता प्राप्त की है। छात्र अब्दुल अनस बेग ने पीडब्लूडी में 20 वीं रैंक, आर्यन अवस्थी ने पीडल्बूडी में 118 रैंक, सुमित कुमार ने एसटी में 396 रैंक, प्रकाश नारायण ने ओबीसी में 6760 हासिल कर बांदा का नाम रोशन किया है। इन सभी मेधावियों ने अपनी सफलता का श्रेय शिक्षक राहुल चौहान को दिया है।

इंटरमीडिएट में हासिल किए थे 90 प्रतिशत से अधिक अंक

सेंट मैरी हायर सेकण्डरी स्कूल के इन छात्रों ने इसी वर्ष इंटरमीडिएट के घोषित परीक्षा परिणाम में भी बाजी मारी थी। शिक्षक राहुल चौहान का दावा है कि इन सभी बच्चों ने इंटर में भी 90 प्रतिशत से अधिक अंक हासिल किए थे। इन पर स्कूल ही नही जिले भर को नाज है।

आईएएस बन करना चाहते देश सेवा

शहर के इन होनहारों में से किसी की तमन्ना आईएएस बनकर देश सेवा की है। तो कोई अपनी कंपनी खोलना चाहता है। शिक्षक राहुल चौहान ने बताया कि अब्दुल अनस और प्रकाश नारायण आईएएस बनना चाहते हैं, जबकि आर्यन और सुमित अपनी कंपनी खोलकर समाजसेवा करना चाहते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Four mercenaries in the district have died in IIT