DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंकों की हड़ताल से प्रभावित रहा करोड़ों का कारोबार

बैंकों की हड़ताल से प्रभावित रहा करोड़ों का कारोबार

यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियन के तत्वाधान पर बुधवार से बैंक कर्मचारियों ने दो दिवसीय हड़ताल शुरू कर दी है। पहले दिन बुधवार को कर्मचारियों ने नारेबाजी कर धरना प्रदर्शन किया। केन्द्र सरकार पर कर्मचारी विरोधी होने का आरोप लगाया। चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगों पर शीघ्र गौर नही किया जाता तो आंदोलन उग्र किया जाएगा।

अखिल भारतीय यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियन के आहवान पर बैंक कर्मचारियों के द्वारा नारेबाजी कर प्रदर्शन किया गया। सुबह सिविल लाइन स्थित इलाहाबाद बैंक की शाखा के बाहर कर्मचारी एकजुट हुए। सभी ने एक स्वर से सरकार और बैंक प्रबंधन पर वेतन समझौता न करने का आरोप लगाया। कहा कि इससे पहले भी कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन कर चुके हैं, इसके बाद भी अभी तक उनकी मांगों की ओर गौर नही किया गया। जिससे कर्मचारियों में आक्रोश है। इधर भारतीय स्टेट बैंक स्टाफ एसोसिएशन के बैनर तले एसबीआई के कर्मचारियों ने नारेबाजी कर विरोध जताया। डेलीगेट सुधीर कुमार शर्मा के नेतृत्व में बैंक गेट पर कर्मचारियों ने नारेबाजी की। मोहन लाल राजपूत, अतुल कुमार शुक्ला ने कहा कि सरकार व बैंक प्रबंधन वेतन समझौता न करते हुए कर्मचारियों को प्रदर्शन के लिए मजबूर किया है। कहा कि यह दो दिन की हड़ताल सांकेतिक है। बताया कि इस हड़ताल से क्लीरिंग एवं शासकीय व्यवसाय से करीब सौ करोड़ का नुकसान होगा। इस मौके पर अभय त्रिपाठी, अखिलेश कुमार, नंदन चतुर्वेदी, राकेश कुमार अग्रवाल, आयूषी बाजपेई, ललिता, विमला द्विवेदी, राजीव वर्मा, शंकर शुक्ला, पुष्पेन्द्र सिंह, वैभव मिश्रा आदि शामिल रहे।

बैरंग लौटने को मजबूर रहे उपभोक्ता

सरकार की नीतियों के विरोध में बुधवार को सरकारी बैंक बंद रहे। कर्मचारी बैंक के बाहर एकजुट होकर नारेबाजी करते रहे। जिससे उपभोक्ता बिना लेन देन के बैंरग वापस लौटने को मजबूर रहे। उपभोक्ताओं का कहना था कि हड़ताल की वजह से काम नही हो पा रहा है। यही हाल रहा तो दो दिनों तक इसी तरह बैंक के चक्कर काटने पडे़गे।

हड़ताल से वेतन में होगी देरी

बैंकों की हड़ताल की वजह से सरकारी कर्मचारियों को वेतन मिलने में देरी होगी। कई सरकारी कर्मचारियों ने बताया कि मई माह खत्म होने को है। पहली तारीख आने वाली है। जिससे वेतन का इंतजार है। लेकिन बैंकों की हड़ताल का प्रभाव सरकारी कर्मचारियों पर पडे़गा। वेतन मिलने में उन्हें विलंब होगा। जिससे परेशानी होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Crores of business affected by strike of banks