DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बांदा › अतर्रा सीएचसी में आयुक्त को स्ट्रेचर मिला गंदा
बांदा

अतर्रा सीएचसी में आयुक्त को स्ट्रेचर मिला गंदा

हिन्दुस्तान टीम,बांदाPublished By: Newswrap
Wed, 02 Jun 2021 05:20 AM
अतर्रा सीएचसी में आयुक्त को स्ट्रेचर मिला गंदा

बांदा। वरिष्ठ संवाददाता

आयुक्त दिनेश कुमार सिंह ने सोमवार को अतर्रा सीएचसी और महुआ ब्लॉक की ग्राम पंचायत रहूसत का औचक निरीक्षण किया। सीएचसी में स्ट्रेचर काफी गंदा मिलने पर उन्होंने नाराजगी जताई। गांव में कूड़ाघर भी नहीं था। इस पर सचिव को कूड़ाघर बनवाने के निर्देश दिए।

सीएचसी अतर्रा के निरीक्षण के दौरान प्रभारी चिकित्साधिकारी और एसडीएम को निर्देश दिए कि अस्पताल को मॉडल अस्पताल के रूप में विकसित किया जाए। सभी वार्डों की रंगाई-पुताई, लाइट, फर्नीचर इत्यादि की व्यवस्था सही ढंग से कर ली जाए। अस्पताल के बाहर भी रोशनी की व्यवस्था उच्च गुणवत्ता की हो। वार्डों में एसी की व्यवस्था अवश्य की जाए। स्वास्थ्य विभाग के पास धन की कोई कमी हो तो विधायक व सांसद से अपील कर उनकी निधि से काम कराए जाए। स्टाफ की एक ड्रेस निर्धारित की जाए, वे उसी निश्चित ड्रेस में आएं। स्ट्रेचर गंदा पाया गया। निर्देश दिए गए कि हर हाल में स्ट्रेचर साफ-सुथरे रहें। 230 लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था, जिनमें से 97 लोगों का वैक्सीनेशन किया गया था। 230 लोगों का एंटीजन टेस्ट हुआ था। सबकी रिपोर्ट निगेटिव रही।

आशा के पास नहीं मिला थर्मामीटर: ग्राम पंचायत रहूसत के निरीक्षण के समय आयुक्त ने एक परिवार से कोटे से प्राप्त होने वाले राशन के सम्बन्ध में जानकारी ली। पाया गया कि राशन दिया जा रहा है। न्याय पंचायत मजिस्ट्रेट लाल सिंह को निर्देश दिए कि जब तक गांव में पूरी तरह सफाई न हो जाए। टीम किसी दूसरे गांव में न भेजी जाए। पंचायत भवन में सभी नवनिर्वाचित सदस्यों के नाम और फोन नंबर अंकित कराने के निर्देश दिए। कहा कि ग्राम पंचायत सचिवालय में सीसीटीवी जरूर लगाए जाए। लेखपाल एवं पंचायत सचिव को निर्देश दिये गये कि किसी भी दशा में राशन और किसी भी प्रकार की पेंशन का पात्र व्यक्ति वंचित न रहने पाए। आशा के पास थर्मामीटर, पल्स आक्सीमीटर एवं कोरोना की दवा की किट नहीं मिली। इस पर उन्होंने नाराजगी जताई। एसडीएम को निर्देश दिए कि प्रत्येक आशा के पास थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर तथा कोरोना की दवा किट अवश्य हो।

संबंधित खबरें