DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रामा सेंटर में भाई-बहन का हंगामा, पुलिस से बदसलूकी

ट्रामा सेंटर में भाई-बहन का हंगामा, पुलिस से बदसलूकी

शहर के सिविल लाइन चौकी के समीप ईिरक्शा चालक और महिला दुकानदार के बीच विवाद हो गया। शोरशराबा सुनकर आसपास के लोग दौड़ पड़े। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस को देख महिला दुकानदार अचेत हो गई। उसे आनन फानन में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुत्र का आरोप है कि उसकी मां को पुलिस ने पीटा है। भाई-बहन ने ट्रामा सेंटर में जमकर हंगामा मचाया। इतना ही नहीं महिला और पुरुष कांस्टेबिल केसाथ अभद्रता कर उनके साथ धक्का मुक्की की। मौके पर पहुंचे डाक्टरों ने किसी तरह समझा बुझाकर शांत कराया।

शहर के जरैली कोठी मोहल्ला निवासी राजकुमारी पत्नी बसंत लाल महाराणा प्रताप चौक स्थित पुलिस चौकी के समीप फुटपाथ पर फल का ठेला लगाती है। वहीं नजदीक में उसका पुत्र ज्वाला प्रसाद कोल्ड ड्रिंक और गुटखा आदि की दुकान खोले है। रविवार को दोपहर शहर के बाबा तालाब मोहल्ला निवासी ई-रिक्शा चालक रजनीश पुत्र अर्जुन फल की दुकान में खड़ा होकर रिक्शे में बैठी सवारी के लिए फल खरीद रहा था। इसी बीच ई-रिक्शा लुढ़क कर कोल्ड ड्रिंक और गुटखे की दुकान के काउंटर से भिड़ गया। जिससे काउंटर में रखा सामान नष्ट हो गया। रिक्शा चालक और ज्वाला प्रसाद के बीच विवाद हो गया। ई-रिक्शा चालक ने दुकानदार पर मारपीट कर रुपये छीनने के आरोप लगाए। झगड़े की खबर मिलने पर पुलिस कर्मी आ गए। पुलिस को आता देख राजकुमारी बेहोश हो गई। पुलिस कर्मी उसे लेकर ट्रामा सेंटर आए। पुत्र ज्वाला और बेटी प्रीति ने पुलिस कर्मियों पर मां के साथ मारपीट के आरोप लगाते हुए जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर में हंगामा करना शुरू कर दिया। महिला-पुरुष कांस्टेबिलों के साथ अभद्रता करते हुए वर्दी फाड़ने का प्रयास किया। डाक्टर और अन्य लोगों ने किसी तरह भाई-बहन को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया। उप निरीक्षक शालिनी सिंह भदौरिया हंगामा मचा रही प्रीति को अपने साथ लेकर पुलिस चौकी ले गईं। कुछ देर चौकी में बैठाने के बाद उसे छोड़ दिया। उधर, सिविल लाइन चौकी प्रभारी हीरालाल ने बताया कि ई-रिक्शा चालक ने महिला के पुत्र के खिलाफ तहरीर दी है। जांच-पड़ताल के बाद रिपोर्ट दर्ज की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Brother-sister ruckus at the Trauma Center, police abuse