ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश बलरामपुरहर माह छह लाख हो रहे खर्च फिर भी शौचालयों में लटक रहा ताला

हर माह छह लाख हो रहे खर्च फिर भी शौचालयों में लटक रहा ताला

लापरवाही सादुल्लाह नगर, संवाददाता। रेहरा ब्लॉक क्षेत्र के गांवों में कुल

हर माह छह लाख हो रहे खर्च फिर भी शौचालयों में लटक रहा ताला
हिन्दुस्तान टीम,बलरामपुरMon, 27 May 2024 07:25 PM
ऐप पर पढ़ें

लापरवाही

सादुल्लाह नगर, संवाददाता।

रेहरा ब्लॉक क्षेत्र के गांवों में कुल 92 सामुदायिक शौचालयों का निर्माण करवाया गया है। इन शौचालयों में केयरटेकर के मानदेय के रूप में पांच लाख 92 हजार रुपए प्रतिमाह खर्च हो रहा है। ब्लॉक क्षेत्र के रूधौली बुजुर्ग में निष्प्रयोज्य साबित हो रहा सामुदायिक शौचालय की ओर जिम्मेदार अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। महिलाएं व बच्चे खुले में शौच जाने को मजबूर हैं।

अधिकारियों की उदासीनता के चलते लाखों रुपए खर्च होने के बावजूद ग्रामीणों को सामुदायिक शौचालयों का लाभ नहीं मिल पा रहा है। खुले में शौच मुक्त अभियान को लेकर ब्लॉक में लाखों रुपए खर्च कर सामुदायिक शौचालयों का निर्माण कराया गया था। जिसमें शासन की मंशा थी कि सामुदायिक शौचालय बनने के बाद ग्रामीणों को खुले में शौच जाने की से मुक्ति मिल जाएगी। इससे साफ-सफाई के साथ-साथ लोगों को गंदगी से होने वाली बीमारियों से भी छुटकारा मिलेगा। सामुदायिक शौचालयों के साफ-सफाई व रखरखाव को लेकर कर्मचारियों को छह हजार रुपए प्रति माह मानदेय दिया जा रहा है। मानदेय आदि के नाम पर लाखों रुपए खर्च किए जाने के बावजूद सामुदायिक शौचालयों में ताले लटक रहे हैं। ग्रामीण खुले में शौच जाने के लिए विवश हैं, लेकिन इस ओर किसी भी जिम्मेदार अधिकारियों का ध्यान नहीं जा रहा है। जिसका लेकर क्षेत्रवासियों में आक्रोश व्याप्त है। क्षेत्रवासियों का कहना है कि समस्या को लेकर कई बार जिम्मेदार अधिकारियों के साथ ग्राम प्रधानों से शिकायत की गई लेकिन किसी ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। इस सम्बन्ध में खण्ड विकास अधिकारी मनोज कुमार शर्मा ने कहा कि सामुदायिक शौचालयों की जांच कराई जाएगी। अनियमितता पाए जाने पर जिम्मेदारों पर कारवाई की जाएगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।