ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश बलरामपुरसात दिवसीय स्काउट गाइड शिविर का हुआ शुभारंभ

सात दिवसीय स्काउट गाइड शिविर का हुआ शुभारंभ

बलरामपुर, संवाददाता। कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में बालिकाओं में स्काउटिंग प्रतिभा को निखारने...

सात दिवसीय स्काउट गाइड शिविर का हुआ शुभारंभ
default image
हिन्दुस्तान टीम,बलरामपुरMon, 24 Jun 2024 06:30 PM
ऐप पर पढ़ें

बलरामपुर, संवाददाता।

कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में बालिकाओं में स्काउटिंग प्रतिभा को निखारने के उद्देश्य से प्रत्येक कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय की एक-एक शिक्षिकाओं को प्रशिक्षण दिया गया है। प्रशिक्षण में जिले के 11 कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय की स्काउट गाइड प्रशिक्षु शामिल हुई हैं।

समग्र शिक्षा के तहत उत्तर प्रदेश भारत स्काउट गाइड की ओर से मंडल स्तरीय सात दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन जिला मुख्यालय के कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय नगर क्षेत्र में किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ ध्वज शिष्टाचार से किया गया। उद्घाटन समारोह में सरस्वती प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। साथ ही कस्तूरबा गांधी एवं स्काउटिंग के संस्थापक लार्ड बेडन पावेल एवं लेडी बेडेन पावेल के चित्र पर माल्यार्पण कर सरस्वती वन्दना व स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया। जिला समन्वयक मोहित देव ने सभी प्रतिभागी को उनके उज्ज्वल भविष्य एवं मंगलमय जीवन के साथ आयोजित बेसिक कोर्स फार गाइड कैप्टन शिविर के सुखद संचालन की शुभकामनाएं दी। सहायक प्रादेशिक संगठन कमिश्नर गाइड किरन पांडेय ने कहा कि सभी प्रतिभागी को हर समय कदम से कदम मिलाकर चलना होगा। कार्यक्रम का संचालन ज़िला स्काउट मास्टर महमूदुल हक़ ने किया। जिला संगठन आयुक्त सिराजुल हक ने स्काउट गाइड को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए स्कूलों में कैडेट के बीच प्रशिक्षण को क्रियान्वित करने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर जिला गाइड आयुक्त रेखा देवी, अपर्णा शुक्ला, जिला संगठन आयुक्त सिराजुल हक़, जिला स्काउट मास्टर महमूदुल हक़, जिला गाइड कैप्टन गार्गी गुप्ता के साथ कार्यालय से आशुतोष मिश्रा आदि उपस्थित रहे। जिला स्काउट मास्टर महमूदुल हक ने बताया कि इस प्रशिक्षण में चारो जनपद गोंडा, बहराइच, श्रावस्ती, बलरामपुर के समस्त केजीबीवी विद्यालय से एक-एक शिक्षिकाओं ने प्रतिभाग किया है। यह प्रशिक्षण सात दिनों तक संचालित किया जाएगा। प्रत्येक दिन समय सारिणी में अलग-अलग पाठ्यक्रम शामिल होंगे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।