DA Image
बलरामपुर

फाइल.9

हिन्दुस्तान टीम,बलरामपुरPublished By: Newswrap
Tue, 29 Jun 2021 07:40 PM
फाइल.9

पेज नंबर तीन बाटम--------

विभाग के पास सिर्फ पांच हजार वैक्सीन मौजूद थी, 89 में से सिर्फ 22 जगहों पर लगाए गए टीकाकरण बूथ

वैक्सीन की कमी, जिले में टीकाकरण बूथ घटाए गए

वैक्सीन की हो उपलब्धता

बलरामपुर। अविनाश त्रिपाठी

जिले में कोरोना वैक्सीन की भारी कमी हो गई है। जिसके कारण जिले में अचानक टीकाकरण बूथों की संख्या घटा दी गई है। मंगलवार को विभाग के पास सिर्फ पांच हजार वैक्सीन थी। इसलिए टीकाकरण सत्रों को घटाकर सिर्फ 22 जगहों पर ही वैक्सीन लगाई गई। कई जगहों पर वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध न होने के कारण जो लोग पहले से स्लॉट बुक कराए थे, उन्हें बैरंग वापस लौटना पड़ा।

दरअसल पिछले कई दिनों से जिले में कोरोना वैक्सीन की कमी है। हर रोज वैक्सीन को लेने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों को लखनऊ, फैजाबाद, गोरखपुर व बनारस जैसे शहरों का चक्कर लगाना पड़ता है। यह चक्कर इसलिए भी लगाना पड़ता है, क्योंकि जहां पर वैक्सीन लेने की बात कह दी जाती है, वहां पर विभाग को अपनी गाड़ी भेजनी पड़ती है। इसमें कर्मी हैरान और परेशान भी होते हैं। सोमवार की देर शाम जिले में वैक्सीन लगभग खत्म हो गई थी। स्थिति यह थी कि अगर रात में वैक्सीन नहीं आई तो मंगलवार को कोविड टीकाकरण नहीं हो पाएगा। हालांकि पांच हजार कोविड वैक्सीन जिले में आई। हर रोज स्वास्थ्य महकमा 75 से लेकर 89 जगहों पर टीकाकरण सत्रों का आयोजन करता था। एकाएक वैक्सीन की कमी होने के कारण टीकाकरण बूथों की संख्या घटाई गई। विभाग के पास सिर्फ पांच हजार वैक्सीन उपलब्ध थी, इसलिए जिले में सिर्फ 22 जगहों पर टीकाकरण सत्रों का आयोजन किया गया। यह टीकाकरण सत्र ऐसी जगहों पर आयोजित किए गए, जहां पर लोग वैक्सीनेशन में रुचि नहीं ले रहे थे। खैर फिर भी 2054 लोगों का मंंगलवार को कोविड टीकाकरण किया गया। कई प्रमुख टीकाकरण केन्द्रों पर वैक्सीन न होने की वजह से लोगों को वापस लौटना पड़ा। स्वास्थ्य कर्मी नाम व केन्द्र न छापने की गुजारिश करते रहे। लोगों का कहना था कि बहुत सारी दिक्कतें हैं। सीएमओ सहित अन्य अधिकारी इस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। अगर मुख्य चिकित्साधिकारी से कोई स्वास्थ्य कर्मी बात करने की कोशिश करता है तो वह उससे सीधे मुंह बात नहीं करते हैं। ऐसी स्थिति में लोग अपनी समस्या को लेकर उनके पास फोन ही नहीं करते हैं। हालांकि इस संदर्भ में जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. अरुण कुमार ने बताया कि एक जुलाई से जिले में विशेष टीकाकरण अभियान चलना है। इस दौरान पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन आ जाएगी। जिसके बाद टीकाकरण बूथों की संख्या बढ़ाई जाएगी। वैक्सीन की मात्रा कम होने के कारण मंगलवार को बूथों की संख्या घटाई गई थी।

199 की जांच में कोई नहीं मिला संक्रमित

बलरामपुर। संवाददाता

जिले में मंगलवार को 199 लोगों की जांच की गई। जांच में कोई भी कोरोना संक्रमित नहीं पाया गया। एक व्यक्ति कोरोना से ठीक हुआ है। जिले में कोरोना के सक्रिय केस घटकर 18 हो गए हैं।

अपर सीएमओ डा. एके सिंघल ने बताया कि जिले में अब तक 7476 लोग कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। इसमें से 7321 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं। 137 लोगोंे की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है। बताया कि मंगलवार को 199 लोगों की कोरोना संक्रमण की जांच की गई। जांच में कोई भी संक्रमित नहीं पाया गया है। यह जिले के लिए राहत की बात है। उन्होंने बताया कि उपचार के दौरान एक व्यक्ति कोरोना से स्वस्थ हुआ है। जिले में कोरोना के सक्रिय केस घटकर 18 हो गए हैं। बताया कि जिले में कुल 20 ऐक्टिव कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। ब्लैक फंगस का कोई मामला सामने नहीं आया है।

दूसरे दिन नौ अभ्यर्थियों ने काउंसलिंग कराई

शिक्षक भर्ती

बलरामपुर। संवाददाता

शासन के निर्देश पर 69 हजार शिक्षक भर्ती प्रक्रिया के तहत काउंसलिंग के दूसरे दिन मात्र नौ अभ्यर्थियों ने उपस्थित होकर अपने अभिलेखों का सत्यापन कराया। अब तक 88 सृजित पदों के सापेक्ष सोमवार को 67 एवं मंगलवार को नौ अभ्यर्थियों ने काउंसलिंग कराई है। कुल मिलाकर अभी तक 73 अभ्यार्थी ने अभिलेखों का सत्यापन कराया है। 12 अभ्यर्थी काउंसलिंग में अनुपस्थित रहे हैं।

पटल सहायक रक्षाराम ने बताया कि जिले में 88 पदों पर सहायक अध्यापकों की काउंसलिंग कराई गई है। दो दिवसीय काउंसलिंग में अब तक मात्र 76 अभ्यार्थी ने अपने अभिलेखों का सत्यापन कराया है। 12 अभ्यर्थी काउंसलिंग में अनुपस्थित रहे हैं। काउंसलिंग में खंड शिक्षाधिकारी रवि शंकर उपाध्याय एवं सतीश कुमार के साथ डायट प्रवक्ता अरुण कुमार शामिल रहे। शिक्षाधिकारियों ने काउंसलिंग में शामिल सभी अभ्यार्थियों के अभिलेखों का सत्यापन कर के मूल पत्रावली जमा की। बेसिक शिक्षाधिकारी डा. रामचंद्र ने बताया कि शासन के निर्देश पर दो दिवसीय काउंसलिंग में 76 अभ्यर्थी शामिल हुए हैं। इन सभी को शासन के अग्रिम आदेश पर नियुक्ति पत्र वितरण एवं ऑनलाइन स्कूल आवंटन किया जाएगा।

संबंधित खबरें