DA Image
Tuesday, December 7, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश बलरामपुरबलरामपुर-उल्टी दस्त से महिला की मौत, डेढ़ दर्जन लोग बीमार

बलरामपुर-उल्टी दस्त से महिला की मौत, डेढ़ दर्जन लोग बीमार

हिन्दुस्तान टीम,बलरामपुरNewswrap
Fri, 22 Oct 2021 10:45 PM
बलरामपुर-उल्टी दस्त से महिला की मौत, डेढ़ दर्जन लोग बीमार

बलरामपुर। तुलसीपुर क्षेत्र के भुजेहरा और रूपनगर गांव में संक्रामक रोगों का कहर बढ़ता जा रहा है। भुजेहरा गांव मजरे लछुआपुर में उल्टी दस्त से एक 50 वर्षीय महिला की मौत हो गई। वहीं दोनों गावों में डेढ़ दर्जन से अधिक लोग उल्टी दस्त से पीड़ित हैं। गांव में चिकित्सीय टीम पहुंचकर लोगों को दवाओं का वितरण किया है। गांव में भारी गंदगी व्याप्त है।

जिले के तराई क्षेत्र में संक्रामक रोगों का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस क्षेत्र के कई गांव संक्रामक बीमारियों के चपेट में हैं। महराजगंज तराई संवाददाता के अनुसार भुजेहरा गांव के मजरे लछुआपुर में तीन-चार दिनों से उल्टी दस्त से दर्जन भर से अधिक लोग पीड़ित हैं। गांव की 50 वर्षीय कमला देवी की मौत उल्टी दस्त से हो गई है। गांव के गुरु प्रसाद (60), मझिला (35), रीता (32), सनेही (50), राधारानी (28), दीपक (12), प्रधान (40), अंकित (4), अंशिका (3), खुशबू (4), भोला (5) व दिवसी (5) उल्टी दस्त से पीड़ित हैं। लोग झोला छाप चिकित्सकों से इलाज करा रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि उल्टी दस्त से हुई मौत की सूचना स्वास्थ्य विभाग को दी गई है। शुक्रवार शाम तक भुजेहरा गांव के मजरा लछुवापुर में स्वास्थ्य टीम नहीं पहुंची थी। इसी तरह से महराजगंज तराई क्षेत्र के रूपनगर गांव के मजरे लौकहवा में भी उल्टी दस्त से आधा दर्जन लोग पीड़ित हैं। गांव भल्लू (55), दल्ले (18), जीवन (52), छोटू (2) व पवन (5) उल्टी दस्त से पीड़ित हैं। उल्टी दस्त से पीड़ित मरीजों को इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है। इस गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंचकर लोगों को दवाएं वितरित की हैं। स्वास्थ्य टीम ने मरीजों को क्लोरीन की टेबलेट व ओआरएस की पैकेट दी गई है। साथ ही लोगों को साफ-सफाई के प्रति सतर्क रहने की सलाह दी गई है।

संक्रामक रोगों से बचने के लिए बरतनी होगी सावधानी: तराई क्षेत्र के गावों में लगातार संक्रामक रोगों का प्रकोप बढ़ रहा है। इस क्षेत्र के कई गांवो में अब तक एक दर्जन से अधिक मौते हो चुकी हैं। सीएमओ डॉ. सुशील कुमार का कहना है कि अब तक जो मौते हुई हैं, उसके पीछे गंदगी व दूषित खाना रहा है। सीएमओ का कहना है कि लोग साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने के साथ-साथ शुद्ध पेयजय का प्रयोग करें। पीने और खाना बनाने के लिए इंडिया मार्का हैंडपम्प-2 के पानी का ही प्रयोग करेें। ताजा खाना खांए। मांसाहार खाने से लोग परहेज करें। खाने को खुले में न रखें और बासी खाना बिल्कुल भी न खाएं। मच्छर जनित बीमारियों से बचने के लिए लोग अपने आस पास जल जमाव न होने दें। रात में सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करें। बच्चों को पूरी बांह वाली सर्ट, पैंट तथा मोजे पहनाएं।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें