DA Image
2 अगस्त, 2020|9:35|IST

अगली स्टोरी

बलरामपुर:कोरोना संक्रमण से हुई सर्जन की मौत

बलरामपुर:कोरोना संक्रमण से हुई सर्जन की मौत

संयुक्त जिला अस्पताल में तैनात वरिष्ठ सर्जन की कोरोना संक्रमण से इलाज के दौरान मौत हो गई। 55 वर्षीय सर्जन मधुमेह की बीमारी से पीड़ित थे। एक सप्ताह पूर्व उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। हालत गंभीर होने पर उन्हें लखनऊ रेफर किया गया था। जहां पर शनिवार को उनकी मौत हो गई। सर्जन के निधन की खबर मिलते ही अस्पताल के चिकित्सक व कर्मियों में शोक की लहर दौड़ गई। संयुक्त जिला अस्पताल में शोक सभा आयोजित कर दिवंगत सर्जन को श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

मूल रूप से गोण्डा के रहने वाले सर्जन की तैनाती संयुक्त जिला चिकित्सालय बलरामपुर में थी। ड्यूटी के दौरान पिछले सप्ताह सर्जन की रैपिड टेस्ट में रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। जिसके बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई थी। सर्जन ने गोण्डा जिला चिकित्सालय में भी कोरोना संक्रमण की जांच कराई थी, जिसमें भी वह कोरोना संक्रमित पाए गए थे। पिछले दिनों उनकी हालत गंभीर होने पर उन्हें लखनऊ रेफर किया गया था। हालत नाजुक होने पर सर्जन को वेंटीलेटर पर रखा गया था। शनिवार की सुबह उनकी मौत हो गई। सर्जन के निधन की खबर मिलते ही चिकित्सा जगत व अन्य क्षेत्रों से जुड़े लोगों में शोक की लहर दौड़ गई।

डीएम कृष्णा करुणेश ने ट्वीट कर सर्जन के निधन पर शोक व्यक्त किया। संयुक्त जिला अस्पताल के सीएमएस डा. नानक शरन के निर्देश पर शनिवार दोपहर अस्पताल की क्वालिटी मैनेजर डा. रुचि पांडेय ने शोक सभा आहूत की। जिसमें अस्पताल के चिकित्सक व अन्य कर्मियों ने दो मिनट का मौन धारण कर मृत आत्मा की शान्ति के लिए प्रार्थना की। दिवंगत सर्जन के व्यवहार व कार्यशैली को याद कर अस्पताल कर्मियों की आंखे नम थीं। सर्जन डा. अरुण कुमार ने कहा कि सर्जन के निधन से चिकित्सा जगत की अपूर्णनीय क्षति हुई है जिसकी भरपाई नहीं की जा सकती। शोकसभा में डा. गिरधर चौहान, डा. सुधीर, डा. रश्मि यादव, डा. महिमा ओझा, चीफ फार्मासिस्ट पीके त्रिपाठी, सुरेन्द्र दूबे, जीपी त्रिपाठी, स्टॉफ नर्स सावित्री जायसवाल, आशुतोष श्रीवास्तव व भरत सहित कई अन्य लोग मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Balrampur Surgeon died of Corona infection