DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बलरामपुर  ›  बलरामपुर:दुकानों पर रही भीड़, नहीं हुआ कोविड नियमों का अनुपालन

बलरामपुरबलरामपुर:दुकानों पर रही भीड़, नहीं हुआ कोविड नियमों का अनुपालन

हिन्दुस्तान टीम,बलरामपुरPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 05:40 PM
बलरामपुर:दुकानों पर रही भीड़, नहीं हुआ कोविड नियमों का अनुपालन

बलरामपुर। संवाददाता

जिले में अनलॉक के बाद मंगलवार को बाजार गुलजार हो गए। मुख्यालय सहित अन्य कस्बों व बाजारों में खुली दुकानों पर लोगों की भारी भीड़ जुटी रही। लोग बिना मास्क बाजार में सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करते दिखाई पड़े। अनलॉक लागू करने के फैसले का व्यापारियों ने स्वागत किया है। हालांकि वर्षा से दोपहर तक दुकानदारी बाधित रही। उसके बाद दुकानें खुलीं और जमकर भीड़ हुई। व्यापारी बोले कि कोरोना कर्फ्यू के कारण आर्थिक नुकसान भले ही उठाना पड़ा, लेकिन संक्रमण से बचाव हो गया। मंगलवार को दुकानें खुली और खूब बिक्री हुई।

जिले में सरकारी व गैर सरकारी कार्यालय सहित दुकान व मंदिरों आदि को शर्तों के साथ मंगलवार सुबह सात से शाम सात बजे तक खोले जाने का निर्देश डीएम श्रुति ने दिया है। एडीएम अरुण कुमार शुक्ल ने बताया कि शासन ने एक जून से अनलॉक लागू किया है। बताया कि शनिवार व रविवार को छोड़कर सप्ताह में पांच दिन बाजार खुलेंगे। शनिवार व रविवार को शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में अभियान चलाकर स्वच्छता व सेनेटाइजेशन का कार्य कराया जाएगा। कहा कि दुकानदार व उनके अन्य स्टॉफ को मास्क लगाना अनिवार्य होगा। दुकान पर सेनेटाइजर व हाथ धुलने की व्यवस्था होगी। इसका उल्लंघन करने पर संबंधित के विरुद्ध महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी। निजी कंपनियों के कार्यालय व औद्योगिक संस्थान भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए खोले जाएंगे। प्रत्येक औद्योगिक इकाई में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना की जाएगी। घनी आबादी के बीच से सब्जी की दुकानों को हटाकर खुले स्थान पर खुलवाया जाएगा। रेलवे स्टेशन, रोड बस में दो गज की दूरी का पालन करते हुए लोग यात्रा कर सकेंगे, लेकिन कर्मचारियों व यात्रियों को मास्क व सेनेटाइजर का प्रयोग करना आवश्यक होगा। इन स्थानों पर स्क्रीनिंग व एंटीजन टेस्ट भी किया जाएगा। लक्षण युक्त व्यक्तियों को उपचार के लिए अस्पताल रेफर किया जाएगा। स्कूल, कॉलेज व कोचिंग संस्थानों में ऑनलाइन पढ़ाई की अनुमति विभागीय आदेशों के अनुसार दी जाएगी। विद्यालयों के प्रशासनिक कार्यालय खोलने की अनुमति दी गई है।

दोपहर दो बजे के बाद बाजार हुए गुलजार

सोमवार तक बाजारों में सन्नाटा पसरा रहता था, लेकिन मंगलवार को बाजार गुलजार हो गए। सुबह नौ से दोपहर 12 बजे तक बारिश हुई। इस दौरान बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा। दोपहर 12 बजे के बाद बाजारों में भीड़ उमड़ पड़ी। सहालग के कारण लोग खरीदारी करने के लिए उमड़ पड़े। इस दौरान बहुत से लोग मास्क नहीं लगाए थे। लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग नियम का पालन भी नहीं किया। जहां कल तक सन्नाटा था, वहां मंगलवार को काफी भीड़ दिखी। कहीं कोरोना प्रोटोकॉल का पालन होता नहीं दिख रहा है।

व्यापारियों ने अनलॉक का किया स्वागत

दुकानदार राम कुमार गुप्ता ने बताया कि खरीदारी करने वालों को कोविड प्रोटोकॉल के पालन की सीख दी गई, लेकिन वे नहीं मानें। उनसे कहा गया कि मास्क लगाकर खरीदारी करें। मास्क न लगाने वालों को वापस भी कर दिया गया। व्यापारी मनोज बोले कि लोग खरीदारी करने के लिए दुकानों पर टूट पड़े थे। सभी को कोरोना से सावधान रहने की सीख दी गई है। कहा गया है कि कोविड प्रोटोकॉल का पालन किए बिना कोई खरीदारी नहीं कर सकेंगे। बेटी की शादी के लिए सामान की खरीदारी करने आए राधारमण मास्क नहीं लगाए थे। कारण पूछने पर बताया कि मास्क गंदा हो गया है। अभी वह मेडिकल स्टोर से नया मास्क खरीदेंगे।

कोविड प्रोटोकॉल की उड़ाई धज्जियां

अनलॉक शुरू होते ही मुख्यालय सहित जिले के अन्य कस्बों व बाजारों में लोगों ने जमकर कोविड प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ाई। नगर के वीर विनय चौराहा से चौक बाजार तक अधिकांश दुकानें खुली रही। इसी प्रकार हरिहरगंज, मथुरा, तुलसीपुर व गौरा सहित अन्य स्थानों पर भी बाजारों में लोगों की भारी भीड़ देखने को मिली। लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते नहीं नजर आए। दुकानों पर बिना मास्क लगाए ही एक-दूसरे से सटकर लोग सामानों की खरीदारी करते दिखे।

अनलॉक शुरू होने पर व्यापारियों ने जताई खुशी

अनलॉक शुरू होने पर जिले के व्यापारियों ने खुशी जताई है। व्यापारियों का कहना है कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान व्यापार पर बुरा असर पड़ा है। सर्राफा व्यापारी विधु जायसवाल ने बताया कि करीब एक महीने के कोरोना कर्फ्यू के दौरान उनका लाखों रुपए का नुकसान हुआ है। ज्वैलर्स संजय गुप्ता ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान शादी व विवाह का आयोजन किया गया है। लोग शादी व विवाह में चांदी व सोने के जेवरात खरीदते थे। इस बार कोरोना कर्फ्यू होने के कारण लोगों ने जेवरात की खरीदारी नहीं की। कपड़ा व्यापारी गुरदीप सरदार ने बताया कि कोरोना कर्फ्यू होने के कारण सहालग में लाखों रुपए का नुकसान हुआ है। सर्राफा व्यापारी छेदीलाल जायसवाल ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू से व्यापारियों को काफी नुकसान पहुंचा है। कहा कि एक महीने से दुकान न खुलने के कारण लाखों रुपए की क्षति हुई है।

कोट-

बाजार में मंगलवार को अत्यधिक भीड़ थी। पुलिस कर्मियों को भेजकर भीड़ हटवाई गई है। दोपहर एक बजे के बाद लोगों को मास्क का वितरण किया गया है और सभी को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया गया है।

अरुण कुमार शुक्ल, एडीएम बलरामपुर

संबंधित खबरें