DA Image
6 दिसंबर, 2020|4:27|IST

अगली स्टोरी

कोटा दुकान को लेकर भाजपा के ही दो नेता भिड़े

कोटा दुकान को लेकर भाजपा के ही दो नेता भिड़े

मुरलीछपरा ब्लाक अंतर्गत सुकरौली ग्राम पंचायत में कोटे की दुकान चयन का मामला मंगलवार को बैरिया ब्लाक में पहुंच गया। वहां दो स्वयं सहायता समूह के लोग खण्ड विकास अधिकारी के सामने ही भिड़ गए। जमकर हाथापाई व गाली गलौज हुई, जिससे ब्लाक परिसर में भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो गयी।

मुरलीछपरा ब्लाक के सुकरौली गांव में कोटे की दुकान चयन को लेकर बीते तीन अक्तूबर को बैठक हुई थी। इसमें वीर एकलव्य महिला स्वयं सहायता समूह व शिवशंकर महिला स्वयं सहायता समूह का प्रस्ताव आया था। दोनों पक्ष एक दूसरे समूह पर आपत्ति कर रहे थे। इससे बीडीओ बैरिया/मुरलीछपरा ने दोनों समूह के पदाधिकारियों को दस्तावेज के साथ बैरिया ब्लाक पर बुलाया।

बताया जाता है कि दोनों पक्ष अपना-अपना तर्क बीडीओ के सामने प्रस्तुत कर रहे थे। इसी बीच, एक समूह के लोग वीडियोग्राफी करने लगे। दूसरे समूह के लोगों ने इसपर आपत्ति जतायी कि महिलाओं का वीडियो बनाया जा रहा है। कहासुनी होते-होते मामले ने तूल पकड़ लिया और गाली-गलौज से हाथापाई तक पहुंच गया।

एक समूह के समर्थक भाजपा के मंडल अध्यक्ष मंटू बिंद जहां दूसरे समूह के लोगों पर दबंगई व फर्जी समूह का आरोप लगा रहे थे, वहीं दूसरे समूह के समर्थक भाजपा के ही एससी-एसटी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष ताड़केश्वर गोड़ ने समूह की महिलाओं का वीडियो बनाने, गाली गलौज करने के साथ ही मारपीट का आरोप लगाया। वीर एकलव्य महिला स्वयं सहायता समूह के समर्थन में सुकरौली के ग्राम प्रधान दीनानाथ निषाद भी खड़े रहे।

इस बाबत ब्लाक पर उपस्थित बैरिया/मुरलीछपरा ब्लाक के आईएसबी बाबू कमलेश यादव ने बताया कि दस्तावेजों की जांच के लिए बीडीओ ने दोनों समूहों के अध्यक्ष, मंत्री व कोषाध्यक्ष को बुलाया था लेकिन दोनों समूह से भारी संख्या में समर्थक पहंुच गए, जिससे गाली-गलौज व हाथापाई की नौबत आ गयी। सूचना पर पुलिस भी पहुंच गयी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Two BJP leaders clashed over Kota shop