DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नयी सड़क बनने से आये दिन हो रहे हादसे

बांसडीह-बेरूआरबारी मार्ग के मैरीटार चौराहा पर मंगलवार को ग्रामीणों ने डिवाइडर बनाने की मांग को लेकर चक्काजाम किया। मौके पर पहुंचे कोतवाल ने तहसीलदार के निर्देश पर ग्रामीणों से पत्रक लेकर जाम समाप्त कराया। 
लोगों ने बताया कि नयी सड़क बनने के बाद उसपर डिवाइडर नहीं बनाया गया। जिसके कारण वाहन सवार काफी तेज रफ्तार से आते हैं और मैरीटार चौराहा पर कई सड़क दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। इसमें अबतक दो लोगों की जान भी जा चुकी है। ग्रामीणों का आरोप है कि सड़क बनने के दौरान भी गोलम्बर व डिवाइडर बनाने की मांग की गयी लेकिन निर्माण कम्पनी ने नहीं बनाया। डिवाइडर बनाने के लिए कई बार डीएम, एसडीएम व पीडब्ल्यूडी के एक्सईएन को पत्रक दिया गया लेकिन डिवाइडर नहीं बनाया गया। ग्रामीणों ने बताया कि शाम होते ही अक्सर साइकिल व बाइक सवार दुर्घटना के शिकार हो जाते हैं। चौराहे पर प्रकाश की भी व्यवस्था नहीं है। यहां हमेशा अंधेरा रहता है। ग्रामीणों की मांग थी कि हादसों को रोकने के लिए चौराहे पर डिवाइडर बनाया जाए और प्रकाश की उचित व्यवस्था की जाए।
चक्काजाम की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे कोतवाल संजय कुमार त्रिपाठी ने बाढ़ग्रस्त इलाके में मौजूद तहसीलदार शिवसागर दुबे से ग्रामीणों की फोन पर बात कराकर आश्वस्त कराया और पत्रक लेकर चक्काजाम समाप्त कराया। 
इस दौरान सपा के बांसडीह विस इकाई के अध्यक्ष हरेन्द्र सिंह, आशुतोष चौबे बंटी, बबुआ सिंह, राधेश्याम बिंद, विनय गोंड, अरमान पासवान, अंगद मिश्र, बसंत राजभर, चंदन राव, पप्पू गुप्त, गोविन्दा कुमार आदि थे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Road accidents