DA Image
25 नवंबर, 2020|1:13|IST

अगली स्टोरी

रामलीला : श्रीराम ने रावण व उसके बेटे नारांतक को मारा

रामलीला समिति सीयर की ओर से नगर के बिचला पोखरा स्थित मैदान पर शनिवार की रात रावण द्वारा अहिरावण को बुलाना की लीला हुई। अगले दृष्य में विभीषण के रूप में हनुमान से छल कर राम-लक्ष्मण को अहिरावण द्वारा पातालपुरी ले जाने, राम और लक्ष्मण को न पाकर बानरी सेना में खलबली, भक्त हनुमान का पतालपुरी पहुंचना, अहिरावण-हनुमान युद्ध, अहिरावण वध होते ही दर्शकों ने जयश्रीराम के जयकारा लगाये। वयोवृद्ध निर्देशक बृजकिशोर आजाद के निर्देशन में अभियन को दर्शकों ने खूब सराहा।

उधर, रतसर के बिका भगत के पोखरे पर चल रही रामलीला में शनिवार की रात प्रभु श्रीराम द्वारा नारांतक व रावण वध की लीला हुई। शुभारंभ प्रभु श्रीराम की आरती के साथ हुआ। समस्त राक्षसी सेना का संहार होने के बाद रावण अपने पुत्र नारांतक को रणभूमि में भेजा, जहां सुग्रीव के पुत्र दधिबल ने उसका वध किया। इसके बाद क्रोध में रावण मंदोदरी की बात न मानते हुए रणभूमि में स्वयं पहुंचा, जहां राम-रावण में भीषण संग्राम हुआ, विभीषण के बताने पर प्रभु श्रीराम ने नाभी में बाण मारकर रावण का वध किया। इस मौके पर गोल्डेन तिवारी, बरमेशवर गिरि, गोरख यादव, चन्द्रशेखर राजभर, ब्रजेश वर्मा आदि थे।

गड़वार हिसं के अनुसार कस्बा में चल रही रामलीला का शुभारंभ शनिवार की रात थाना प्रभारी अनिल चंद्र तिवारी ने प्रभु श्रीराम की आरती व पूजन-अर्चन कर किया। सीता स्वयंवर, धनुष भंग के बाद पहुंचे क्रोधावतार लक्ष्मण-परशुराम संवाद, जनक द्वारा अयोध्या में बारात लाने के निमंत्रण भेजने की लीला हुई। जनकपुर में सीता ने प्रभु श्रीराम के गले में वरमाला डाली तो जय श्रीराम का उद्घोष होने ल गा। इस दौरान मोहन सिंह, अमित सिंह कल्लू आदि थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ramlila Shriram killed Ravana and his son Narantaka