DA Image
23 नवंबर, 2020|10:19|IST

अगली स्टोरी

आलू के आसमान छूते भाव ने निकाला दम, सब्जियों की बढ़ती कीमतों ने बिगाड़ा बजट

आलू के आसमान छूते भाव ने निकाला दम, सब्जियों की बढ़ती कीमतों ने बिगाड़ा बजट

सब्जियों के आसमान छूते भाव ने आम लोगों के घरों का बजट बिगाड़ दिया है। हरी सब्जियों के महंगे होने पर लोग सिर्फ आलू से आराम से अपना काम चला लेते थे लेकिन इस बार आलू ने भी लोगों का दम निकाल दिया है। हालांकि यह है कि आम तौर पर इस समय पांच से दस रुपये किलो बिकने वाला आलू इन दिनों 40 से 42 रुपये किलो बिक रहा है। ऐसे में कम आमदनी या रोज कमाने-खाने वालों के लिए आलू भी बेहद खास हो गया है और आम लोगों की पहुंच से दूर होता जा रहा है।

'हिन्दुस्तान' ने रविवार को शहर के चित्तू पांडेय चौराहा के पास ओवरब्रिज के नीचे लगने वाले सब्जी मार्केट का पड़ताल कर सच्चाई जानने का प्रयास किया। वैश्विक महामारी कोरोना से हर वर्ग के लोगों के समक्ष आर्थिक दिक्कत हो गयी है। ठेला-खोमचा लगाकर अपने परिवार का जीविकोपार्जन करने वालों के सामने तो आर्थिक संकट कुछ ज्यादा ही है। ऐसे में आलू समेत अन्य सब्जियों के बढे़ भाव ने हालत बिगाड़ दी है। आम लोग किसी प्रकार आधा किलो, एक पाव आलू खरीदकर काम चलाने को विवश हैं।

शहर के रामपुर उदयभान निवासी अंशु ने बताया कि आलू के भाव में इतनी महंगाई पहले कभी नहीं देखी थी। इसी मुहल्ले के रमेश यादव ने बताया कि बेरोजगारी में आलू की सब्जी खाना भी मुश्किल है। प्रोफेसर कॉलोनी निवासी मीना ने बताया कि आलू की महंगाई ने किचेन का बजट बिगाड़ दिया है।

एक नजर में सब्जियों के भाव

सब्जी रेट प्रति किलो/पीस

आलू पुराना 40 से 42

आलू नया 60 से 62

प्याज 55 से 60

लहसुन 88 से 100

बैगन 40 से 45

टमाटर 45 से 50

बरबटी 35 से 40

मूली 25 से 30

नेनुआ 35 से 40

भिंडी 50 से 55

करैला 40 से 45

हरा मरीचा 80 से 85

कुदुरून 25 से 30

लौकी 30 से 35 रुपये पीस

गोभी 35 से 50 प्रति पीस

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Potato 39 s skyrocketing price drains rising prices of vegetables spoil budget