ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश बलियारास्ते से गायब हुआ लावारिस हाल में मिला नवजात

रास्ते से गायब हुआ लावारिस हाल में मिला नवजात

सिकन्दरपुर। हिन्दुस्तान संवाद लावारिस हाल में मिले एक नवाजात के संदिग्ध रुप से...

रास्ते से गायब हुआ लावारिस हाल में मिला नवजात
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,बलियाTue, 24 Aug 2021 03:21 AM
ऐप पर पढ़ें

सिकन्दरपुर। हिन्दुस्तान संवाद

लावारिस हाल में मिले एक नवाजात के संदिग्ध रुप से गायब होने का मामला प्रकाश में आया है। इसको लेकर सीएचसी के डॉक्टर, चाइल्ड लाइन व पुलिस परेशान है। काफी प्रयास के बाद भी लापता हुए नवजात का सुराग नहीं लग सका है।

स्थानीय कस्बा से सटे मैनापुर मोड़ के पास शनिवार की देर शाम एक नवजात लावारिस हाल में पड़ा था। कुछ देर बाद 108 नम्बर की एम्बुलेंस से दो महिलाएं व एक पुरुष नवजात को लेकर स्थानीय सीएचसी पर पहुंचे। अस्पताल के प्रभारी अधीक्षक डॉ. मुख्तार यादव ने नवजात को प्राथमिक इलाज के बाद जिला महिला अस्पताल रेफर कर दिया। उन्होंने इस मामले से चाइल्ड लाइन को भी अवगत करा दिया। नवजात के महिला अस्पताल पहुंचने का इंतजार कर रहे चाइल्ड लाइन के सदस्यों ने रात में तथा रविवार की सुबह महिला अस्पताल के डॉक्टरों से सम्पर्क किया तो पता चला कि सीएचसी सिकन्दरपुर से भेजा गया नवजात जिला महिला अस्पताल तक पहुंचा ही नहीं है। इसके बाद सक्रिय हुए चाइल्ड लाइन के सदस्यों ने सीएचसी के चिकित्सकों से सम्पर्क किया तो उन्होंने बताया कि प्राथमिक इलाज के बाद बच्चें को रेफर कर दिया।

डॉ. मुख्तार यादव का कहना है कि साथ में आये दो व्यक्तियों में एक गड़वार थाना क्षेत्र के खरहाटार निवासी रामू कुमार भारती तथा दूसरी उसकी पत्नी बेबी थी, जबकि एक अन्य पुरुषोत्तम पट्टी गांव की आशा बहू थी। उनका कहना है कि दोनों ने पूछे जाने पर एक मोबाइल नम्बर पर नोट कराया, लेकिन मांगे जाने पर कोई पहचान पत्र नहीं दिया। आशा बहू ने बताया कि बच्चे का एक प्राईवेट अस्पताल में इलाज कराया जा रहा था, जहां से इसे सरकारी अस्पताल भेज दिया गया। नवजात के महिला अस्पताल नहीं पहुंचने पर चाइल्ड लाइन के सदस्यों ने एम्बुलेंस चालक से सम्पर्क किया तो उसने बताया कि अस्पताल से निकलते ही बच्चे की मौत हो गयी, लिहाजा तीनों उसे लेकर गाड़ी से उतर गये। इस मामले में चाइल्ड लाइन व सीएचसी की ओर से पुलिस को तहरीर दी गयी है लेकिन फिलहाल केस दर्ज नहीं हो सका है।

कोट:

लावारिस हाल में मिले नवजात के संदिग्ध रुप से लापता होने का मामला संज्ञान में आया है। चौकी इंचार्ज सिकन्दरपुर ने आशा बहू से बातचीत की तो उसने बताया कि मैं बाहर हूं। आशा बहू का कहना है कि नवजात की मौत हो गयी तो उसे जहां पर मिला था, वहीं पर रख दिया गया। हालांकि अब तक नवजात का कोई शव भी बरामद नहीं हुआ है। जांच कर कार्रवाई की जायेगी।

अशोक मिश्र, सीओ सिकन्दरपुर

epaper