DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आइये 'टीम बलिया' की भावना से काम करें

आइये 'टीम बलिया' की भावना से काम करें

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री, सरकार के प्रवक्ता तथा जिले के प्रभारी मंत्री श्रीकांत शर्मा ने गुरुवार को यहां जिले के विकास का खाका खींचा। वर्ष 2017-18 के लिए 440 करोड़ 97 लाख रुपये के बजट का अनुमोदन करते हुए सभी को 'टीम बलिया' की भावना से काम करने का आह्वान किया। जिले को 'टॉप टेन' की सूची में शामिल कराने का अपना लक्ष्य सामने रखते हुए सभी से सहयोग की अपील की। कलक्ट्रेट सभागार में जिला योजना समिति की बैठक में मंत्री ने सभी सदस्यों को भरोसा दिलाया कि विकास की बात पर सभी को बराबर-बराबर तरजीह दी जायेगी। अधिकारियों को भी सचेत किया कि कागजों पर ही रिपोर्टिंग नहीं चलेगी। धरातल पर काम दिखना चाहिए, लिहाजा कार्यशैली को बदलना पड़ेगा। दो टूक कहा कि टाल-मटोल नहीं बल्कि रिजल्ट चाहिए। जिलाधिकारी सुरेन्द्र विक्रम ने कहा कि सरकार की मंशा किसानों की आय को दुगना करना है। उद्यान, डेयरी, पशुपालन आदि की बेहतर सम्भावनाएं जिले में है, लिहाजा इन सबके विकास पर भी हमारा विशेष जोर है। उप निदेशक (कृषि) को निर्देश दिया कि जिले में तिल, मूंगफली व जायद के लिए सूरजमुखी की खेती पर विशेष ध्यान दें। खराब हैण्डपम्पों को दुरूस्त नहीं किये जाने की शिकायत पर डीएम ने आश्वस्त किया कि सभी हैंडपम्प एक सप्ताह में ठीक करा दिये जायेंगे। सीसी रोड व केसी ड्रेन का निर्माण सिर्फ सांसद आदर्श ग्राम में ही किये जाने का निर्देश दिया गया। बैठक में सांसद भरत सिंह व रविन्दर कुशवाहा, जिला पंचायत अध्यक्ष सुधीर पासवान, विधायक आनंद स्वरूप शुक्ल, सुरेन्द्र सिंह, संजय यादव व धनंजय कन्नौजिया, जिला योजना समिति के सदस्यों के अलावा एसपी सुजाता सिंह, सीडीओ संतोष कुमार, डीएसटीओ बब्बन मौर्य आदि थे। सड़क-पुल के लिए 32 करोड़ 31 लाख जिला योजना की बैठक में कुल 440 करोड़ 97 लाख का बजट पास हुआ। इसमें प्रमुख रूप से रोजगार कार्यक्रमों के लिए 87 करोड़ 29 लाख, समाज कल्याण विभाग का 84 करोड़, पंचायती राज विभाग का 11 करोड़ 64 लाख, लोक निर्माण विभाग में सड़क व पुल के लिए 32 करोड़ 31 लाख, ग्रामीण स्वच्छता के लिए 36 करोड़ 60 लाख, इंदिरा आवास योजना के लिए 45 करोड़ व अल्पसंख्यक विभाग के लिए 42 करोड़ 97 लाख रुपये खर्च का प्रस्ताव पारित हुआ। उद्यान विभाग का परिव्यय 5 लाख का ही था। लेकिन जिले के हर ब्लाक में नेचुरल वेंटिलेटेड पॉली हाउस की स्थापना के लिए 17 लाख का परिव्यय सदन में सर्वसम्मति से पास हुआ। पौधरोपण को जनान्दोलन बनायें प्रभारी मंत्री ने पौधरोपण को जनान्दोलन का रूप देने को कहा। डीएफओ को निर्देश दिया कि मुख्य मार्गों के अलावा गांवों को मेन रोड से जोड़ने वाली सड़क किनारे भी पेड़ लगायें। इसमें ग्राम प्रधान व ग्रामीणों का भी सहयोग लें। यह बहुत ही महत्वपूर्ण व जीवन से जुड़ी योजना है। लिहाजा इसे पूरी गम्भीरता से लिया जाए। योजना समिति के सदस्यों ने पेड़ों के रख-रखाव पर ध्यान नहीं दिये जाने की शिकायत की। इसको मंत्री ने गम्भीरता से लेते डीएफओ को निर्देशित किया। समिति की बैठक में स्थापना, रख-रखाव, ट्री-गार्ड आदि व्यवस्था पर 5 करोड़ 48 लाख का परिव्यय अनुमोदित हुआ है। बैरिया विधायक सुरेन्द्र सिंह ने सुझाव दिया कि बैरिया-बिहार की सीमा पर मांझी में विशेष सतर्कता बरतकर वन विभाग की आमदनी बढ़ायी जा सकती है। निर्माणाधीन सड़क की जांच कराने का निर्देश जिला योजना समिति की बैठक में संासद भरत सिंह व बैरिया विधायक सुरेन्द्र सिंह ने नौरंगा व जवहीं दियर में लम्बे समय से बन रही सड़क की गुणवत्ता की शिकायत की। विधायक ने नौरंगा में प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बन रही सड़क में धन के दुरूपयोग की शिकायत की। इस पर प्रभारी मंत्री ने इसकी जांच कराकर दोषी पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया। विधायक ने खाद्यान्न योजना में धंाधली की शिकायत की और गरीबों की मुख्य योजना होने के नाते इसमे पारदर्शिता लाने की गुजारिश की। डीएम ने तत्काल शिकायतों को दूर करने का भरोसा दिलाया। सोलर लाईट में अनियमितता की होगी जांच जिला योजना समिति के सदस्यों ने नेडा की ओर से सोलर स्ट्रीट लाईट लगाने में गड़बड़ी की शिकायत की। इस पर मंत्री के निर्देश पर जिलाधिकारी ने टीम बनाकर इसकी जांच कराने को कहा। साथ ही इसकी सूची जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। नेडा अधिकारी को सचेत किया कि गड़बड़ी पायी गयी तो दोषी बख्शे नहीं जायेंगे। प्लास्टिकमुक्त बलिया बनायें स्वच्छ भारत अभियान के तहत अपने शपथ को दोहराते हुए प्रभारी मंत्री ने अपने आसपास सफाई व्यवस्था रखते हुए अन्य को भी प्रेरित करने पर बल दिया। विशेष रूप से प्लास्टिक व पोलिथीनमुक्त बलिया बनाने का आह्वान किया। इस अभियान में सभी से सहयोग की अपील भी की। 'आदत सुधरने में समय तो लगेगा' जिला योजना की बैठक में सपा से जुड़े जिला पंचायत सदस्यों ने अधिकारियों के मनमानी की शिकायत की। इस पर मंत्री ने चुटकी लेते हुए कहा, पिछले 14 सालों से खराब हो चुकी आदत को सुधरने में समय तो लगेगा ही। महीने-दो महीने का समय दें, आपको यही अधिकारी बेहतर रिजल्ट देंगे। भरोसा दिया कि इस बैठक में मिले सुझावों का अनुपालन अगली बैठक में जरूर दिखेगा। आश्वस्त किया कि अच्छे सुझावों को दरकिनार करने वाले अफसर बचेंगे नहीं। 'सपाइयों से बोले, पीड़ा समझ सकता हूं' प्रभारी मंत्री ने बैठक के दौरान सपा से जुड़े सदस्यों के हो-हल्ला पर भी चुटकी ली। कहा, अच्छी बात है कि आप लोग 'काम बोलता है' की खुद ही पोल खोल रहे हैं। आपके पिछले पांच सालों की इस पीड़ा को मैं अच्छी तरह समझ सकता हूं। पांच साल आपकी सुनवाई नहीं हुई लेकिन अब आपको निराशा हाथ नहीं लगेगी। आपके विकास के एक- एक प्रस्ताव व सुझाव को माना जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Let's work with the spirit of 'Team Ballia'