DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बलिया › संस्कार व संस्कृति को बचाना हमारी जिम्मेदारी
बलिया

संस्कार व संस्कृति को बचाना हमारी जिम्मेदारी

हिन्दुस्तान टीम,बलियाPublished By: Newswrap
Wed, 04 Aug 2021 03:22 AM
संस्कार व संस्कृति को बचाना हमारी जिम्मेदारी

बलिया। संवाददाता

पं. केपी मेमोरियल संगीत विद्यालय (रामपुर उदयभान) के परिसर में मंगलवार को संगीत एवं साहित्य गोष्ठी हुई। इस दौरान जुबली पाठशाला के प्रबंधक ओंकार नाथ उपाध्याय को अंगवस्त्र से सम्मानित किया गया।

बतौर मुख्य अतिथि उपाध्याय ने कहा कि संस्कार विहीन समाज मुर्दा के समान है। इसलिए जन-जन को संस्कार व संस्कृति से अवगत कराना हम सबकी जिम्मेदारी है। इस दिशा में संस्कार भारती बेहतर काम कर रही है।

अध्यक्षता करते हुए साहित्यकार भोला प्रसाद 'आग्नेय' ने कहा कि संगीत व साहित्य दोनों एक दूसरे के पूरक हैं। इनके माध्यम से संस्कृति व संस्कार का प्रचार-प्रसार प्रभावशाली होता है। शत्रुघ्न पांडे ने अपने हास्य व्यंग से गोष्ठी को नया आयाम दिया। संगीत विद्यालय के राजकुमार मिश्र ने सभी के प्रति आभार जताया। इस अवसर पर विष्णु मालवीय, पवन सिंह, शिवाकांत यादव, आकाश मिश्र आदि थे।

संबंधित खबरें