DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मारपीट में घायल होमगार्ड के जवान की मौत

default image

रास्ते के विवाद में करीब एक पखवारा पहले घायल हुए होमगार्ड के जवान की रविवार को मौत हो गयी। इसकी जानकारी मिलने के बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जा में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। पुलिस का कहना है कि पीएम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी।

स्थानीय थाना क्षेत्र के लेखमनपुर (कमरौली) निवासी मऊ में तैनात होमगार्ड के जवान 55 वर्षीय रामआशीष तिवारी का सगे भाई विजय शंकर तिवारी से रास्ते को लेकर विवाद चल रहा था। 13 अगस्त को दोनों के बीच कहासुनी के बाद मारपीट हो गयी। इस घटना में दोनों पक्ष के लोग घायल हो गये जिनका इलाज स्थानीय पीएचसी पर कराया गया। पुलिस ने 14 अगस्त को दोनों पक्ष के तीन-तीन लोगों को शांति भंग की आशंका में पकड़कर चालान कर दिया गया। 15 अगस्त को रामआशीष की तहरीर पर पुलिस ने विजय शंकर व उनके दो पुत्रों अवधेश व दिनेश के खिलाफ रपट दर्ज कर लिया। इसी बीच रविवार को रामआशीष की तबियत अचानक खराब हो गयी। परिजन उन्हें अस्पताल ले जाने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन तब तक उनकी सांस थम गयी। परिजनों का आरोप है कि पिटाई के चलते रामआशीष की जान गयी है। इसकी जानकारी मिलने के बाद एएसपी संजय कुमार, सीओ रसड़ा केपी सिंह व एसओ नगरा यादवेन्द्र पांडेय पहुंचकर परिजनों से पूछताछ की। थानाध्यक्ष का कहना है कि इस मामले में कार्रवाई हुई है। पीएम रिपोर्ट आने के बाद मामले की छानबीन कर दोबारा कार्रवाई की जायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Homeguards injured in the fight killed