DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीएम ने कस्तूरबा बालिका में जांची शैक्षिक गुणवत्ता

डीएम सुरेंद्र विक्रम ने मंगलवार को कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय (बैरिया) का औचक निरीक्षण किया। विद्यालय की बच्चियों से सवाल करके शैक्षिक गुणवत्ता को परखा। वार्डेन आदि से व्यवस्था सम्बन्धी पूछताछ की। डीएम ने किचन, बेडरूम, क्लासरूम, शौचालय के साथ ही विद्यालय के आगे पीछे जाकर जायजा लिया। निर्देश दिया कि बेडसीट को तत्काल बदल दिया जाए। बालिकाओं को बेहतर भोजन ही दिया जाय। भोजन में प्रयोग होने वाली सामग्री ब्रांडेड हो। डीएम ने बीएसए को विद्यालय के लिए तत्काल विद्युत कनेक्शन लेने को कहा। बिजली सम्बन्धी जो भी जरूरते है उसे लिखित रूप में दें। बाउंड्री वाल, हैंडपंप समेत जो भी व्यवस्था अधूरी है उसको पूरा किया जाए। विद्यालय की बालिकाओं से तरह तरह के सवाल पूछकर पठन-पाठन की गुणवत्ता को परखा। वार्डेन को निर्देश दिया कि हर महीने अभिभावकों की भी एक मीटिंंग की जाए। महीने में कम से कम एक बार बालिकाओं का डॉक्टरी चेकअप भी हो। इनसेट क्लास रुमों में पर्याप्त पंखें लगवाने का निर्देश बलिया। सुदिष्टबाबा पीजी कालेज (रानीगंज) का मंगलवार को डीएम ने जायजा लिया। उन्होंने पठन-पाठन व अन्य जरूरी व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के निर्देश दिये। तहसील दिवस के बाद कालेज पहुंचे डीएम ने क्लास रूमों, कम्प्यूटर कक्ष, कार्यालय, शौचालय व परिसर का जायजा लिया। क्लास रूम में और पंखे व परिसर में प्रकाश के लिए बड़े-बड़े दो लाइट लगाने को कहा। निर्माणाधीन गेट के पास चौकीदार के लिए एक छोटा कमरा बनवाने का निर्देश दिया। कम्प्यूटर आपरेटर का मानदेय पांच हजार से बढ़ाकर 10 हजार करने प्रस्ताव मांगा। कम्प्यूटर कक्ष में अच्छे स्पीड के इंटरनेट की व्यवस्था करने को कहा। इस दौरान मुख्य कोषाधिकारी प्रकाश सिंह, प्राचार्य सुधाकर तिवारी थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: DM has educational quality in Kasturba Girls