DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बलिया  ›  स्टेशन का दर्जा छीनने के खिलाफ प्रदर्शन

बलियास्टेशन का दर्जा छीनने के खिलाफ प्रदर्शन

हिन्दुस्तान टीम,बलियाPublished By: Newswrap
Wed, 10 Mar 2021 03:04 AM
स्टेशन का दर्जा छीनने के खिलाफ प्रदर्शन

बलिया / रेवती। निजीकरण के खिलाफ रेल संघर्ष समिति ने फेफना व रेवती रेलवे स्टेशन के पास धरना दिया। वक्ताओं ने कहा कि केंद्र सरकार सभी सार्वजनिक प्रतिष्ठानों को बेचने पर आमादा है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। पूंजीपतियों के हाथों का खिलौना होने का ही प्रमाण है कि प्लेटफार्म टिकट 30 से 50 रुपये तक कर दिया गया।

प्रदर्शनकारियों ने पहले की तरह रेल किराया कम करने, जिले के सागरपाली, रेवती व रसड़ा को पहले की तरह रेलवे स्टेशन का दर्जा देने, यात्री सुविधाओं के साथ ही रेलकर्मियों व बेरोजगारों को ध्यान में रखते हुए रेल का निजीकरण नहीं करने की मांग की।

इस दौरान जनार्दन सिंह, अवधेश सिंह, शिवानन्द, बलिराम सिंह, प्रनेश कुमार, अशोक पांडे, अरुण सिंह, कैलाश यादव, परमात्मानन्द राय, हसन जावेद, शिवाजी, नीतीश कुमार आदि थे।उधर, रेल संघर्ष समिति ने रेवती रेलवे स्टेशन पर भी धरना दिया। रेलमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन बांसडीह एसडीएम दुष्यंत मौर्य को देकर रेवती स्टेशन को पहले की तरह बहाल रखने की मांग की। चेतावनी सभा के माध्यम से लक्ष्मण पांडे ने कहा कि यदि रेवती स्टेशन को हाल्ट बनाया गया तथा वर्तमान में रुक रही एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव बंद किया गया तो बड़ा जनांदोलन होगा। दलछपरा से त्रिकालपुर के बीच 10 किमी ट्रैक पर आम लोग बैठकर प्रदर्शन करेंगे। मंगलवार के धरना में व्यापार मंडल व ई-रिक्शा संचालकों की भी सहभागिता रही। सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस तैनात रही।

करीब दो घंटे बाद सीओ बांसडीह दीपचंद व एसएचओ यादवेंद्र पांउे के साथ एसडीएम धरना स्थल पर पहुंचे। धरना सभा को रामराज्य वर्मा, श्रीभगवान यादव, दयाशंकर यादव आदि ने संबोधित किया। धरना में व्यापार मंडल के अध्यक्ष वीरेंद्र गुप्त, शांतिल गुप्त, सत्यदेव राजभर, राजेश केशरी, परमानंद पांडे, एजाज, धनजी पासवान, अरमान हुसेन, कन्हैया पांडे आदि थे। संचालन मुन्नू कुंवर ने किया। ज्ञापन के माध्म से सामान्य किराये पर सभी ट्रेनें चलाने, रेवती, सागरपाली व फेफना को स्टेशन का दर्जा बहाल रखने, रेलवे का निजीकरण नहीं करने आदि की मांग की गयी।

संबंधित खबरें