ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश बलियाश्रम प्रवर्तन आफिस में तैनात सहायक को हटाने की मांग

श्रम प्रवर्तन आफिस में तैनात सहायक को हटाने की मांग

व्यापार कल्याण समिति ने स्थानीय श्रम प्रवर्तन कार्यालय में कार्यरत कनिष्ठ सहायक के खिलाफ उपश्रमायुक्त आजमगढ़ समेत प्रमुख सचिव (श्रम) लखनऊ,...

श्रम प्रवर्तन आफिस में तैनात  सहायक को हटाने की मांग
default image
हिन्दुस्तान टीम,बलियाSun, 16 Jun 2024 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

रसड़ा, हिन्दुस्तान संवाद। व्यापार कल्याण समिति ने स्थानीय श्रम प्रवर्तन कार्यालय में कार्यरत कनिष्ठ सहायक के खिलाफ उपश्रमायुक्त आजमगढ़ समेत प्रमुख सचिव (श्रम) लखनऊ, श्रमायुक्त कानपुर को शिकायती पत्र भेजकर उन्हें यहां से हटाने की मांग की है।
समिति के अध्यक्ष मोहम्मद युनूस, महामंत्री विनोद शर्मा समेत अन्य व्यापारियों ने पत्र में आरोप लगाया है कि कनिष्ठ सहायक व्यापारियों के दुकानों पर जाकर उन्हें तरह-तरह से परेशान कर उनका उत्पीड़न कर रहे हैं। व्यापारी नेताओं का कहना है कि उत्तर प्रदेश दुकान व वाणिज्य अधिष्ठान नियमावली 1962 के अनुसार उन्हें बाजारों में किसी भी दुकान पर जाकर दुकानदारों से पूछताछ और पंजीयन देखने का अधिकार नहीं है। व्यापारी नेताओं का कहना है कि यह अधिकार केवल श्रम निरीक्षक को है। इसके लिए भी श्रम निरीक्षक को सम्बंधित जिले के डीएम से अनुमति प्राप्त करनी होती है। व्यापारियों ने पत्र में लिखा है कि कनिष्ठ सहायक के खिलाफ व्यापारियों के साथ गलत आचरण, दुर्व्यवहार, मानसिक उत्पीड़न किये जाने की कई बार शिकायतें की गई हैं। आरोप है कि कनिष्ठ सहायक यहां के व्यापारियों के खिलाफ गलत शिकायतें किसी दूसरे व्यापारी के कूटरचित हस्ताक्षर से उच्च प्रशासन से कर रहे हैं। उनके इस कृत्य से व्यापारी समुदाय में प्रशासन के साथ-साथ उत्तर प्रदेश सरकार की भी छवि धूमिल हो रही है। व्यापारियों ने चेतावनी दी है कि उत्तर प्रदेश शासन के स्थानांतरण नीति वर्ष 2024-25 के तहत कनिष्ठ सहायक का स्थानांतरण यहां से 25 जून तक नहीं किया गया तो समिति की ओर से 26 जून को स्थानीय श्रम प्रवर्तन कार्यालय पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। इसके बाद स्थानांतरण नहीं होने तक चरणबद्ध तरीके से आंदोलनरत की जाएगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
अगला लेख पढ़ें