अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाढ़ उतरने पर संक्रामक बीमारियों का खतरा

सुरेमनपुर दियरांचल के शिवाल मठिया, गोपालनगर, वशिष्ठ नगर व मानगढ़ ग्राम पंचायतों में हजारों कीआबादी बाढ़ का दंश झेल रही है। हालांकि घाघरा का पानी अब उतरने लगा है लेकिन बाढ़ पीड़ित परिवारों की परेशानी बढ़ गयी है। 

दरअसल बाढ़ का पानी उतरने के बाद कीचड़ व गंदगी से लोगों का रास्ते से गुजरना कठिन हो गया है। संक्रामक बीमारी फैलने का खतरा बढ़ गया है। गोपालनगर के प्रधान प्रदीप यादव ने बताया कि बाढ़ का पानी उतरने के बाद घास के सड़ने व सड़क के किनारे शौच करने से रास्ता चलना मुश्किल है। पोखरा से टाड़ी जाने वाले पीडब्लूडी की सड़क के दोनों तरफ ज्यादा दिक्कत है।

उधर, शिवाल मठिया के प्रधान हेमनाथ यादव व मानगढ़ के पूर्व प्रधान बच्चा यादव ने बताया कि बाढ़ का पानी उतरने के बाद अब बाढ़ प्रभावित मुहल्ले के आसपास के बंधे पर गंदगी की भरमार है। 

बच्चों में टीकाकरण का काम भी ठप है। गोपालनगर के प्रधान मनीष यादव ने बताया कि यहां जो एएनम तैनात थी, उनका ट्रांसफर हो गया है। बार-बार आग्रह के बावजूद दवाओं का छिड़काव नहीं हो रहा है। कभी भी इस क्षेत्र में संक्रामक बीमारी फ़ैल सकती है।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Danger of Infectious Diseases