DA Image
21 सितम्बर, 2020|2:47|IST

अगली स्टोरी

बलिया में रह रहे बिहार के मजदूर को हुआ कोरोना

बलिया में रह रहे बिहार के मजदूर को हुआ कोरोना

बलिया। वरिष्ठ संवाददाता

कोरोना को लेकर फैली हनक के बीच जनपद के लिए एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है। विगत कई महीनों से बलिया में रह रहे एक मजदूर की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इससे जनपद में हड़कम्प मचा हुआ है। हालांकि मजदूर का कोरोना टेस्ट बिहार में हुआ है। बावजूद इसके रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद से जिले के अधिकारियों की धड़कने तेज हो गई है।

मिली जानकारी के अनुसार शहर के मॉडल रेलवे स्टेशन के पूर्वी ओर काजीपुरा रेलवे क्रासिंग के समीप विगत लंबे समय से वासिंगपीठ के निर्माण का कार्य चल रहा था। इसमें विभिन्न जनपद के मजदूरों के साथ गोरखपुर की कम्पनी द्वारा बिहार के करीब 50 मजदूरों को भी काम पर लगाया गया था। इसबीच देश में कोरोना ने दस्तक दे दी, जिसको देखते हुए 25 मार्च से पूरे देश में लॉक डाउन घोषित कर दिया गया। लॉक डाउन के बाद रेलवे के निर्माण कार्य पर रोक लग गई। ठेकेदार और सम्बंधित अधिकारी भी मजदूरों को उनके हाल पर छोड़ गए। जब तक जेब में पैसा था, तबतक मजदूरों ने अपना गुजारा किया। लेकिन जब जेब खाली हुई तो बिहार के 34 मजदूरों ने पैदल ही अपने घर जाने का निर्णय लिया। 16 अप्रैल की रात में सभी मजदूरों ने रेलवे पटरियों के किनारे अपने घर तक यात्रा की शुरुआत कर दी। पूरी रात पैदल चलने के बाद सभी मजदूर बिहार के छपरा जनपद में पहुंचे, जहां पुलिस कर्मियों ने सभी की जानकारी प्राप्त कर उन्हें क्वारन्टीन सेंटर में भेज दिया। क्वारन्टीन सेंटर पर एक सप्ताह रहने के बाद विगत 24 अप्रैल को बिहार प्रशासन द्वारा सभी मजदूरों की जांच कराई गई, जिसकी रिपोर्ट शुक्रवार को आई। रिपोर्ट के अनुसार अररिया (बिहार) के रहने वाले 40 वर्षीय मजदूर में कोरोना की पुष्टि हो गई, जबकि अन्य 33 मजदूरों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। बिहार प्रशासन ने कोरोना के मरीज को आइसोलेशन वार्ड में भेजवाने के साथ उसकी रिपोर्ट बलिया रेल प्रशासन को भेज दी। बिहार सरकार से रिपोर्ट मिलने के बाद बलिया रेल प्रशासन सहित जिला प्रशासन में हड़कम्प मच गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bihar worker living in Ballia got corona