DA Image
5 दिसंबर, 2020|4:56|IST

अगली स्टोरी

बलिया : सड़क हादसे में बाइक सवार रेलकर्मी की मौत

बलिया : सड़क हादसे में बाइक सवार रेलकर्मी की मौत

घर से ड्यूटी करने आ रहे रेलकर्मी की शनिवार की रात सड़क हादसे में मौत हो गयी। इसकी जानकारी होते ही गांव-घर में मातम पसर गया। खबर मिलते ही परिजन व नाते-रिस्तेदार पहुंच गये।

उभांव थाना क्षेत्र के हल्दीरामपुर (सोनबरसा) निवासी 30 वर्षीय लक्ष्मण प्रसाद चितबड़ागांव में गेटमैन के पद पर तैनात थे। वह परिवार के साथ चितबड़ागांव रेलवे स्टेशन के रेलवे आवास में रहते थे। शनिवार को गांव गये लक्ष्मण देर शाम बुलेट से चितबड़ागांव लौट रहे थे। इसी बीच फेफना-गड़वार मार्ग पर बंधैता मोड़ के पास बाइक अनियंत्रित होकर पानी से भरे गड्ढ़े में पलट गयी। मोटरसाईिकल के नीचे दब जाने के कारण लक्ष्मण ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। राहगीरों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मोबाइल व जेब में मिले कागजातों के अधार पर मृतक की शिनाख्त करने के बाद परिजनों को मामले से अवगत कराया। खबर मिलते ही घरवालों के साथ ही नाते-रिस्तेदार पहुंच गये। पुलिस ने शव को कब्जा में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। लोगों का कहना है कि वह मां-बाप के एकलौते पुत्र थे। पति की मौत के बाद से पत्नी गुड़िया का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। उनका तीन साल का बेटा आर्यन है।

बुलेट के जलते इंडिकेटर से हुई हादसे की जानकारी

फेफना थाना क्षेत्र के बंधैता मोड़ के पास शनिवार की रात गड्ढ़े में पलटी बुलेट के जलते इंडिकेटर पर राहगीरों की नजर पड़ी। उन्होंने पास जाकर देखा तो बाइक के नीचे युवक दबा हुआ था। इसके बाद उन्होंने मामले से पुलिस को अवगत कराया।

बताया जाता है कि अंधे व खतरनाक मोड़ पर तेज रफ्तार होने के चलते अनियंत्रित बाइक गड्ढ़े में पलट गयी। सड़क से गड्ढ़े की दूरी अधिक अधिक होने तथा झाड़-झंखाड़ होने के चलते इस घटना पर किसी की नजर बामुश्किल पड़ती। हालांकि हादसे के दौरान बाइक का इंजन बंद हो गया था, लेकिन इंडिकेटर जल रहा था। सड़क से गुजर रहे लोगों की नजर जलते इंडिकेटर पर पड़ी तब कहीं दुर्घटना की जानकारी हो सकी। लोगों का कहना है कि अगर इंडिकेटर नहीं जलता तो शायद हादसे के बारे में रविवार की सुबह ही लोग जान पाते।

रेलवे गेट '30 बी' पर थी लक्ष्मण की ड्यूटी

चितबड़ागांव। सड़क दुर्घटना में स्थानीय रेलवे स्टेशन पर तैनात लक्ष्मण प्रसाद की मौत की खबर से रेलकर्मी शोक में डूब गये।

बताया जाता है कि उनकी तैनाती मुख्य बाजार में स्थित गेट संख्या 30बी पर थी। ड्यूटी रविवार की सुबह छह बजे से करना था लिहाजा रात में ही वह गांव से वापस लौट रहे थे। रेलवे कालोनी में पत्नी गुड़िया व तीन साल के पुत्र आर्यन के साथ रहने वाले लक्ष्मण मिलनसार थे। उनकी मौत की जानकारी होने के बाद रेलकर्मियों के साथ ही उनके परिवार की महिलाएं भी गमगीन हो गयीं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ballia Bike worker dies in road accident