DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बलिया में आज पहली आरती के साथ ही खुलेगा बाबा दरबार

बलिया में आज पहली आरती के साथ ही खुलेगा बाबा दरबार

शहर में स्थित बाबा बालेश्वर मंदिर का दरबार सावन के पहले सोमवार से अन्य दिनों की अपेक्षा ढाई घंटे पहले ही खुल जाएगा। मध्यरात्रि के बाद डेढ़ बजे पहली आरती के बाद से ही श्रद्धालुओं के दर्शन-पूजन व जलाभिषेक का सिलसिला शुरू हो जाएगा। आमतौर पर बाबा का दरबार चार बजे से खोला जाता है लेकिन सोमवार पर यह विशेष इंतजाम किया गया है। हजारों श्रद्धालुओं के जुटान के मद्देनजर मंदिर परिसर व आसपास पुख्ता तैयारी कर ली गयी है। रविवार को ही बैरिकेटिंग, सजावट आदि का कार्य पूरा कर लिया गया था।

बाबा बालेश्वर मंदिर कमेटी के प्रबंधक अजय चौधरी डब्लू ने बताया कि श्रद्धालुओं को दर्शन-पूजन में किसी प्रकार की दिक्कत न आए, इसका पूरा-पूरा प्रयास किया जा रहा है। इसके अलावा पर्याप्त संख्या में पुलिस व महिला पुलिस की तैनाती रहेगी।

बाबा की पंच आरती है खास

बलिया। बाबा बलेश्वर की पंच आरती के प्रति श्रद्धालुओं की अटूट आस्था है। मान्यता है कि इस आरती में जो सच्चे मन से शामिल होता है, बाबा उसकी मुराद अवश्य पूरी करते हैं। मंदिर कमेटी के प्रबंधक डब्ल्यू चौधरी के अनुसार रात 10 बजे बाबा के शृंगार के बाद 12 बजे महाआरती होती है। चार बजे भोर में बाल भोग आरती तथा दोपहर एक बजे व शाम को संध्या आरती होती है। इसमें सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु हाजिरी लगाते हैं।

काशी व बंगाल के फूलों की खुशबू से गमकेगा दरबार

बलिया। भगवान शिव को चढ़ाने के लिए पश्चिम बंगाल व बनारस से कमल, गुलाब, चमेली व गेंदा का फूल विक्रेता मंगा रहे हैं। विक्रेताओं के अनुसार भांग व धतूरा आदि की पूर्ति तो गांव-देहात से हो जाती है लेकिन कमल, गुलाब, चमेली, रातरानी, गेंदा आदि फूलों को बंगाल के सियालदह से मंगाया जाता है। जबकि कुछ फूल बनारस से मंगाये जाते हैं।

40 किलो फूल से होगा दिव्य शृंगार

बलिया। प्रसिद्ध बाबा बालेश्वर नाथ का सावन के हर सोमवार को विशेष शृंगार मध्यरात्रि को 12 बजे किया जाता है। एक अनुमान के मुताबिक बाबा के श्रृंगार में विभिन्न प्रकार के करीब 40 किलो फूलों का इस्तेमाल होता है। शृंगार के बाद ही बाबा की महाआरती होगी और प्रसाद का वितरण होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Baba durbar will open with the first aarti in Ballia today