DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शराब के तस्करों ने बदला कारोबार का पैंतरा

शराब के तस्करों ने बदला कारोबार का पैंतरा

अवैध शराब का हब बन चुके इस जनपद में गैर प्रदेशों से दारू लाकर तस्करी करने वालों ने धंधे का अंदाज भी बदल डाला है। यही कारण है कि वे आम तौर पर सफल रह रहे हैं। कभी-कभार ही पुलिस की सख्ती से मामला हाथ लग जाता है। बुधवार को फेफना पुलिस ने रामगढ़ गांव के पास से 750 पेटी अवैध शराब पकड़ा है। यह शराब एक बड़े ट्रक (कंटेनर) में रखी हुई थी। यह पहला मौका नहीं है जब तस्करों ने अलग तरीके से शराब को छिपाकर ले जाने की तरकीब बनायी थी। इसके पहले भी कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। पिछले कुछ महीनो में करोड़ों की अवैध अंग्रेजी शराब को पुलिस ने पकड़ा है। हर बार तस्कर एक नये पैंतरे से पुलिस को चुनौती दे रहे हैं। आम तौर पर शराब की खेप चंडीगढ़ से आ रही है। ट्रकों पर लदा शराब कई राज्यों व जनपदों को पार करते हुए अंतिम छोर पर बसे इस जनपद तक कैसे पहुंच जा रहा है, यह भी अहम सवाल है। फेफना पुलिस द्वारा बुधवार को पकड़े गये एक ट्रक शराब को ढोने के लिये तस्करों ने जिस तरीके का इजाद किया है वह काफी चौंकाने वाला है। दो पहिया वाहनों को ढोने के लिये बनाये गये बड़े कंटेनर को दो हिस्सों में बांट दिया गया था। पीछे के हिस्से में धंधेबाजों ने टूटी कुर्सियां रख दी थीं, ताकि पुलिस जांच के दौरान धोखा खा जाय। कंटेनर के अगले हिस्से में शराब की पेटियों को भर दिया था। पीछे लदे सामानों को उतारने के लिये पिछला दरवाजा तथा शराब को उतारने के लिये केबिन में चालक के सीट के पीछे दरवाजा बनाया गया था। बताया जाता है कि फेफना एसओ अनिल चंद्र त्रिपाठी ने रसड़ा-बलिया मार्ग पर रामगढ़ गांव के पास से कंटेनर को पकड़ा गया तो काफी देर तक यह पता ही नहीं चल सका कि आखिर शराब है कहंा? छानबीन के बाद चालक के सीट के पीछे दरवाजा मिला। उसे खोलने पर 43 लाख रुपये मूल्य की शराब बरामद हो सकी। केस: एक : दिनांक: पांच सितम्बर 2016। शहर से सटे जीराबस्ती (नगरी) गांव के एक फार्म हाउस से एक ट्रक शराब बरामद हुई। करीब 17 लाख रुपये वाली उक्त शराब को जिस ट्रक से लाया गया था उस पर प्यूरीफायर मशीन लदी थी। शराब का अवैध कारोबार करने वालों ने पुलिस को झांसा देने के लिये काफी बेहतर व्यवस्था कर रखी थी। पुलिस को जांच के दौरान ट्रक के अंदर से गुरु श्री सति भाई दास जी आश्रम, बस स्टैण्ड के पीछे कलानौर (रोहतक), हरियाणा, संचालक सुरेन्द्र कुमार के नाम का एक लेटर पैड मिला था। उस समय दावा किया गया था कि कागजों में नरजनी अखाड़ा बलिया को गंगा सफाई अभियान में वाटर फिल्टर टैंक दान देने के लिये गाड़ी प्यूरीफायर लेकर चली थी। केस: दो : दिनांक: सात अक्तूबर 2016। रसड़ा कोतवाली क्षेत्र के जाम गांव के पास से स्वॉट टीम ने ट्रक में लदा शराब पकड़ा। खास बात यह है कि गाड़ी में शराब की पेटियों को रखने के बाद उसके पीछे पीओपी (प्लास्टर ऑफ पेरिस) की बोरिया लादी गयी थी। मुखबिर की सूचना पर पीछा कर जब पुलिस ने ट्रक को दबोचा तो पहले सैकड़ों पीओपी की बोरियों को उतरवाने के बाद लाखों का सामान हाथ लग सका। केस: तीन : दिनांक: आठ फरवरी 2017। गोरखपुर की एसटीएफ टीम ने सुखपुरा चौराहा से एक ट्रक हरियाणा निर्मित अंग्रेजी शराब को पकड़ा। मुखबिर की सूचना पर एसटीएफ की इस कार्रवाई में ट्रक पर कई कुंतल संतरा लदा पाया गया, जिसके नीचे शराब को छिपाकर रखा गया था। पुलिस के हाथ लगे आरोपितों ने झांसा देने के लिये पहले संतरा पहुंचाने की बात कही। हालांकि कड़ाई से पूछताछ में उन्होंने अपना जुर्म कुबूल कर लिया, जिसके बाद पुलिस थाने ले जाकर शराब को कब्जे में ले सकी। केस: चार : दिनांक: 20 मई 2017। शहर के एससी कॉलेज के पास से पुलिस ने घेराबंदी कर दारू लदे एक ट्रक को पकड़ लिया। छानबीन में प्लाईवुड के नीचे छिपाकर कर रखी गयी गयी करीब 70 लाख रुपये मूल्य की 800 पेटी शराब बरामद हुई। ट्रक के साथ पकड़े गये चालक ने पुलिस को बताया कि वाहन में जीपीएस सिस्टम लगा है, जिससे तस्करी एक जगह बैठकर गाड़ी का लोकेशन ले रहे थे। पुलिस का कहना है कि पहले तो चालक ने प्लाईवुड लदे होने की बात कहते हुए झांसा देने का प्रयास किया। हालांकि छानबीन में शराब बरामद हुआ। तेल के टैंकर से होती थी गांजा की सप्लाई करीब तीन साल पहले तत्कालिन एसओजी प्रभारी अनिल सिंह ने गड़वार बाजार में एक तेल टैंकर को पकड़ा। छानबीन हुई तो टैंकर के अगले हिस्से को कुछ इस कदर बनाया गया ताकि उसमें आसानी से उपर के रास्ते गांजा रखा जा सके। पुलिस के हाथ टैंकर से आसाम से आजमगढ़ जा रहा लाखों रुपये मूल्य का गांजा बरामद हुआ तथा चालक गिरफ्तार को गिरफ्तार कर लिया गया। सूत्रों की मानें तो गाड़ी आज भी गड़वार थाना परिसर में खड़ी है तथा आरोपित ड्राईवर को जमानत भी नहीं मिल सकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Alcohol smugglers change business turnover