DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बलिया › बलिया से पैदल ही लखीमपुर-सीतापुर को निकले 53 मजदूर
बलिया

बलिया से पैदल ही लखीमपुर-सीतापुर को निकले 53 मजदूर

हिन्दुस्तान टीम,बलियाPublished By: Newswrap
Sat, 28 Mar 2020 04:44 PM
बलिया से पैदल ही लखीमपुर-सीतापुर को निकले 53 मजदूर

बैरिया (बलिया)। हिन्दुस्तान संवाद

सिताबदियारा जयप्रकाश नगर बंधे के निर्माण के लिए लखीमपुर खीरी व सीतापुर से आये 53 मजदूर शनिवार को पैदल ही अपने घरों के लिए चल दिए। उनका कहना था कि यहां रहकर भूखों मरने से अच्छा है कि अपने घर के लिए यहां से निकल लिया जाय। रास्ते मे चलते हुए कुछ साधन मिल गया तो ठीक नहीं तो पैदल ही अपने जाएंगे।

उल्लेखनीय है कि यूपी-बिहार की सीमा पर बांध बनाने का ठेका लखनऊ के एक ठेकेदार को मिला है। ठेकेदार अपने साथ सीतापुर व लखीमपुर खीरी के 53 मजदूरों को लाकर बंधे का निर्माण करा रहा था। 24 मार्च को लॉकडाऊन की घोषणा होते ही ठेकेदार मजदूरों को छोड़कर कार से निकल गया। क्षेत्रीय लेखपाल ने एक टाइम के भोजन का प्रबंध किया, जबकि ग्राम प्रधान ने तीन टाइम खाना खिलवाया।

मजदूरों की मानें तो अधिक संख्या होने के कारण भोजन की व्यवस्था कोई नहीं करा पाया। कोरोना के डर से कोई अपने यहां शरण देने को तैयार भी नहीं था। अन्तत: शनिवार को ये सभी अपने घर को रवाना हो गए। लखीमपुर खीरी के मजदूर जयराम कुंवर, नीलू राम, वीरेन्द्र, जयलाल, कमलेश, संजय, बबलू, सुरेश, कृष्णा आदि ने बताया कि बार-बार गुहार के बाद भी प्रशासन की ओर से कोई मदद नहीं मिली।

इस बावत एसडीएम अशोक चौधरी ने बताया कि उनके लिए भोजन की व्यवस्था कराई गई थी। रहने के लिए तिरपाल भी दिया था लेकिन वह लोग बिना बताए चले गए। भोजन नहीं मिलने की उनकी बात गलत है।

संबंधित खबरें