DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बलिया › ‘अनसेफ मिठाई, तेल-रिफाइन के नमूने भी फेल
बलिया

‘अनसेफ मिठाई, तेल-रिफाइन के नमूने भी फेल

हिन्दुस्तान टीम,बलियाPublished By: Newswrap
Fri, 17 Sep 2021 03:22 AM
‘अनसेफ मिठाई, तेल-रिफाइन के नमूने भी फेल

बलिया। वरिष्ठ संवाददाता

खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग की ओर से लिये गए संदिग्ध नमूने की जांच रिपोर्ट काफी चौंकाने वाली है। रिपोर्ट के अनुसार मिठाई, रिफाइन तेल, सरसो तेल, बेसन के कई नमूनों में मिलावट की पुष्टि हुई है। एक ब्रांडेड कंपनी के दही व दूध भी मानक के अनुरूप नहीं मिले है।

मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी दीपक श्रीवास्तव के अनुसार एक अप्रैल से 31 अगस्त के बीच लिए गए संदिग्ध नमूनों को जांच के लिए लैब भेजा गया था। उनमें 159 खाद्य पदार्थों की जांच रिपोर्ट आ गयी है। इनमें 68 प्रतिशत नमूने फेल हैं। हालांकि इसका मतलब यह नहीं है कि यह सभी खाने लायक नहीं हैं। इसमे कुछ की ही रिपोर्ट ऐसी है, जो स्वास्थ्य के लिये हानिकारक है।

श्रीवास्तव ने बताया कि दूध के 40 रिपोर्ट में 22 नमूने फेल हैं। इसमें या तो मक्खन निकाला गया है या पानी मिलाया गया है। खोआ व खोआ से बनी मिठाइयों के 26 नमूनों में से 19 फेल मिले हैं। ये मानक अनुरूप नही है। इसमे अरारोट व मैदा मिलाया गया है। इसमे एक की रिपोर्ट ‘अनसेफ पायी गयी है, जो स्वास्थ्य के लिये हानिकारक है।

इसी प्रकार होली त्योहार पर विशेष अभियान के तहत लिये गये रिफाइंड तेल के सात नमूनों में से तीन रिपोर्ट में फेल है। इसी प्रकार सरसों तेल के दस नमूने में छह की जांच रिपोर्ट ठीक नहीं है। नमकीन, कचरी व चिप्स के 17 सैम्पल में से 16 की रिपोर्ट सही नहीं मिली है। हालांकि विभाग के अनुसार यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक वाली स्थिति में नहीं हैं। बेसन के एक जांच रिपोर्ट बताती है कि वह स्वास्थ्य के लिये हानिकारक है। खरुआंव (नगरा) से एक ब्रांडेड कंपनी के चार नमूने लिए गए थे जिसमें दही व दूध के एक-एक की जांच रिपोर्ट मानक के अनुरूप नहीं है।

श्रीवास्तव ने स्पष्ट किया कि रिपोर्ट का मतलब यह कत्तई नहीं है कि बाजार में बिकने वाले खाद्य पदार्थ सही नहीं है। ये संदिग्ध खाद्य पदार्थों के नमूनों की रिपोर्ट है।

संबंधित खबरें