DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बलिया  ›  निर्विरोध जीते 11 सदस्य, सिर्फ 7 को ही दिया प्रमाण पत्र

बलियानिर्विरोध जीते 11 सदस्य, सिर्फ 7 को ही दिया प्रमाण पत्र

हिन्दुस्तान टीम,बलियाPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 03:20 AM
निर्विरोध जीते 11 सदस्य, सिर्फ 7 को ही दिया प्रमाण पत्र

सिकंदरपुर। हिन्दुस्तान संवाद

भले ही प्रदेश सरकार त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव पूरी पारदर्शिता से कराने का दावा कर रही हो लेकिन धीरे-धीरे विभागीय लापरवाही भी सामने आने लगी है। नजीर के तौर पर नवानगर ब्लॉक को देखा जा सकता है। निर्वाचन अधिकारियों की लापरवाही की वजह से ग्राम पंचायत चकहाजी उर्फ शेखपुर के नव निर्वाचित प्रधान का शपथ ग्रहण नहीं हो सका है। अब विभागीय चूक सामने आने के बाद निर्वाचन में लगे अधिकारी/कर्मचारी टाल-मटोल कर रहे हैं।

नव निर्वाचित प्रधान हाकिम प्रसाद की मानें तो ग्राम सभा के 11 पंचायत सदस्यों का निर्विरोध निर्वाचन हुआ था लेकिन सिर्फ 7 सदस्यों को ही प्रमाण पत्र दिया गया। बताया कि जिन चार सदस्यों को प्रमाण पत्र जारी नहीं किया गया उनमें वार्ड संख्या तीन से रेनू, नौ से कलावती, 10 से अरविंद व 11 से मीरा ने 15 अप्रैल को अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था। इन सबकी रिसीविंग भी मौजूद है। फिर भी प्रमाणपत्र जारी नहीं करना समझ से परे है। जबकी वार्ड संख्या 9 से प्रत्याशी रहीं कलावती देवी का निधन मतगणना के बाद हो गया है। इस वजह से एक सीट रिक्त भी हो चुकी है। इस लिहाज से भी कोरम पूरा करने के लिए सात सदस्यों की जरूरत होगी, जो तात्कालिक परिस्थितियों में मौजूद है। इसके बावजूद सदस्यों की कमी का हवाला देकर ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों द्वारा शपथ नहीं कराना किसी साजिश की ओर इशारा कर रहा है।

आरोप है कि उक्त के सम्बंध में जिलाधिकारी समेत एसडीएम से भी शिकायत की गई लेकिन किसी ने संज्ञान नहीं लिया। बहरहाल वजह चाहें जो भी हो, मामूली सी चूक के कारण उक्त ग्राम सभा को विकास कार्यों के संचालन के लिए थोड़ा इंतजार जरूर करना पड़ेगा।

इस सम्बन्ध में एआरओ मोहम्मद शमीम ने बताया कि वस्तुत: प्रत्याशियों द्वारा नामांकन पत्र में प्रादेशिक निर्वाचन संख्या गलत अंकित किया गया था, जिसकी वजह से उनका नामांकन निरस्त कर दिया गया। वहीं आरओ कैप्टन देवेन्द्र सिंह तेवतिया ने बताया कि ग्राम पंचायत सदस्यों को सर्टिफिकेट जारी करने की जिम्मेदारी एआरओ की होती है, लिहाजा वही स्थिति स्पष्ट कर सकते हैं।

संबंधित खबरें