Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश बहराइच टीईटी परीक्षा ऐन वक्त पर रद्द, भटकते रहे परीक्षार्थी

टीईटी परीक्षा ऐन वक्त पर रद्द, भटकते रहे परीक्षार्थी

हिन्दुस्तान टीम,बहराइचNewswrap
Sun, 28 Nov 2021 11:35 PM

 टीईटी परीक्षा ऐन वक्त पर रद्द, भटकते रहे परीक्षार्थी

बहराइच। संवाददाता

शिक्षक बनने का सपना संजोए घर से परीक्षा केंद्र पहुंचे हजारों परिक्षार्थियो को उस समय गहरा आघात लगा, जब उन्हें परीक्षा रद्द होने की जानकारी मिली। जिले के 15 परीक्षा केंद्रों पर रविवार को शुरू हुई टीईटी की परीक्षा में पेपर और ओएमआर बांटने के बाद वापस ले लिए गए। अचानक परीक्षा रद्द होने से परीक्षार्थी हक्का-बक्का रह गए और मायूस होकर घर गए। सुरक्षा की दृष्टि से परीक्षा केंद्रों पर भारी पुलिस तैनात कर दी गई और डीएम डॉ. दिनेश चंद्र ने खुद केडीसी में कमान संभाले रखी।

सकुशल टीईटी की परीक्षा करवाने के लिए किसान महाविद्यालय, तारा महिला गर्ल्स स्कूल, गांधी इंटर कालेज, महाराज सिंह इंटर कॉलेज, महिला महाविद्यालय, कैसरगंज स्थित राम कृष्ण परामहंस कालेज समेत 15 सेंटर बनाये गए थे। सभी सेंटरों पर नियत समय से परीक्षा शुरू भी हो गई। दूर दराज से पहुंचे कुछ देर बाद ही परीक्षार्थियों को परीक्षा रद्द होने की सूचना दी गई। इसके बाद बाहर निकले परीक्षार्थियों में सरकार की व्यवस्था को लेकर गहरा आक्रोश दिखा। महराज सिंह इंटर कॉलेज में परीक्षा रद्द होने के बाद बाहर निकल रही नानपारा निवासी नीशू पांडेय ने बताया कि परीक्षा को लेकर काफी तैयारी की थी। सारी तैयारी बेकार हो गई। नकल माफिया पर कार्यवाही के लिए सरकार को कड़े कदम उठाने चाहिए। राजकीय इंटर कॉलेज से मायूस होकर बाहर निकल रहे मिहींपुरवा के धर्मापुर निवाशी अभ्यर्थी आशीष सिंह ने बताया कि पेपर काफी अच्छा आया था। लगभग आधा पेपर उन्होंने कर भी लिया था, लेकिन तभी पेपर रद्द होने की सूचना ने व्यथित कर दिया।

परीक्षा केन्द्र से बाहर आते ही छलका आक्रोश

बहराइच। टीईटी परीक्षा रद्द होने के बाद केन्द्र से बाहर निकलते ही परीक्षार्थियों का आक्रोश फूट पड़ा। राजकीय बालिका इंटर कॉलेज परीक्षा केन्द्र से निकले नवाबगंज के जलालपुर निवासी अभ्यर्थी जितेंद्र कुमार ने बताया कि इस तरह परीक्षा रद्द होना बेरोजगार युवाओं के साथ अन्याय है। सरकार को इस पर कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए। गंगापुर निवासी राजकुमार ने बताया कि पेपर काफी सरल आया था। इस बार लग रहा था कि मेहनत सफल होगी, लेकिन सब पे पानी फिर गया। कैसरगंज परमहंस पीजी कालेज में अभ्यर्थी सचिन कुमार ने बताया कि सुबह 6 बजे से उठकर पेपर की तैयारी कर रहे थे। समय पर परीक्षा केंद्र पहुंचकर खुशी मिली थी। कुछ देर बाद ही सब खराब हो गया। भविष्य के साथ हो रहे इस तरह के खिलवाड़ पर रोक लगनी चाहिए।

केडीसी के बाहर तैनात रही भारी पुलिस फ़ोर्स

बहराइच। सुरक्षा के दृस्टि से वैसे तो सभी परीक्षा केंद्रों पर भारी पुलिस फ़ोर्स तैनात रही, लेकिन छात्र संख्या के हिसाब से सबसे बड़े परीक्षा केंद्र किसान महाविद्यालय के बाहर भारी मात्रा में पुलिस फ़ोर्स देखने को मिली। परीक्षा रद्द होने के बाद परीक्षार्थी कोई हंगामा न करें, इसके लिए एक ट्रक महिला कांस्टेबल बुलाई गई थी।

epaper

संबंधित खबरें