Friday, January 28, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश बहराइचनवनवं पीएमएस संवर्ग के भरोसे है मेडिकल कॉलेज, सुपर स्पेशलिस्ट की खानापूर्ति

नवनवं पीएमएस संवर्ग के भरोसे है मेडिकल कॉलेज, सुपर स्पेशलिस्ट की खानापूर्ति

हिन्दुस्तान टीम,बहराइचNewswrap
Thu, 02 Dec 2021 10:45 PM
नवनवं
पीएमएस संवर्ग के भरोसे है मेडिकल कॉलेज, सुपर स्पेशलिस्ट की खानापूर्ति

हिन्दुस्तान। संवाददाता

मेडिकल कॉलेज का दर्जा, भरपूर संसाधनों की उपलब्धता पर अफसोस, सुपर स्पेशलिस्ट चिकित्सकों के नाम पर न्यूरोलॉजिस्ट तो दूर रेडियोलॉजिस्ट तक की तैनाती नहीं हुई है। गंभीर मरीजों को इलाज के लिए अभी भी लखनऊ की दौड़ लगानी पड रही है। इससे मेडिकल कॉलेज संचालित होने के बावजूद भी मरीजों को राहत नहीं मिल पा रही है।

भारत- नेपाल सीमा से सटे बहराइच को मार्च 2019 में जिला अस्पताल को उच्चीकृत कर मेडिकल कॉलेज की सौगात मिली थी। मेडिकल कॉलेज के हिसाब से मानकों को भी तय कर दिया गया। प्रोफेसर, अस्सिटेंट प्रोफेसर, आचार्य तक की तैनाती हो चुकी है। कोरोना काल के दौरान अधिकांश संसाधनों की उपलब्धता भी हो चुकी है, लेकिन तीन साल होने को है, अभी तक विभागों में विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती को लेकर कदम नहीं उठाए गए हैं। बानगी के तौर पर रेडियोलॉजी विभाग में अस्सिटेंट प्रोफेसर व सीनियर रेजीडेंट के दो पद सृजित हैं, एक भी तैनाती नहीं है। कुछ विभागों को छोड दें तो अधिकांश विभाग की स्थिति यही है। इसका खामियाजा आर्थिक रूप कमजोर मरीजों को भुगतना पड़ रहा है। हालांकि पीएमएस प्रांतीय चिकित्सा सेवा संवर्ग के चिकित्सकों के भरोसे ही मेडिकल कॉलेज का संचालन हो रहा है।

एसआर के भी आठ पद रिक्त

बहराइच। मेडिकल कॉलेज कागजों में भले ही चल रहा हो, लेकिन डॉक्टर बनने की ख्वाहिश लेकर यहां पढ़ने वाले एमबीबीएस विद्यार्थियों को भी मायूस होना पड रहा है। इन विद्यार्थियों को पढ़ाने व प्रोफेसर के कार्य में मदद के लिए तैनात होने वाले एसआर यानि सीनियर रेजीडेंट के 14 में से आठ पद खाली हैं।

एक रेडियोलॉजिस्ट पर दो-दो अस्पतालों की जिम्मेदारी

बहराइच। जिला अस्पताल में पहले से चिकित्सा सेवा संवर्ग से एक रेडियोलॉजिस्ट की तैनाती है। इनके कंधों पर महिला व पुरुष अस्पताल की जिम्मेदारी है। इनको भी हटाने को लेकर शासन ने आदेश जारी कर दिया है। जैसे-तैसे सेवाएं दी जा रही हैं।

अल्टासाउंड के लिए भोर में ही लग जाती है भीड़

बहराइच। रेडियोलॉजी विभाग में सुबह से ही अल्टासाउंड कराने के लिए मरीजों की भीड़ जमा हो जाती है। पुरुष अस्पताल में 11 बजे तक अल्टासाउंड करने के बाद चिकित्सक महिला अस्पताल को रुख करते हैं। देर होने से मरीजों को वापस या फिर निजी सेंटर जाना पडता है।

विभाग पद तैनाती

मेडिसिन 05 03

सर्जरी 05 02

रेडियोलॉजी 02 00

एनेस्थिसिया 05 02

पीडियाट्रिक 05 04

--------------------------------------------

मेडिकल कॉलेज में पीएमएस संवर्ग के चिकित्सकों से कार्य लिया जा रहा है। रेडियोलॉजी, न्यूरोलॉजी व अन्य विभागों के विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी है।

- डॉ. ओपी पांडेय, सीएमएस, मेडिकल कॉलेज, बहराइच

epaper

संबंधित खबरें