Wednesday, January 26, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश बहराइच शहर के रैन बसेरों पर नशेडि़यों का कब्जा

शहर के रैन बसेरों पर नशेडि़यों का कब्जा

हिन्दुस्तान टीम,बहराइचNewswrap
Sun, 28 Nov 2021 11:25 PM

शहर के रैन बसेरों पर नशेडि़यों का कब्जा

बहराइच। संवाददाता

तराई में ठंड बढ़ गई है। दूर-दराज से आने वाले लोगों को ठंड में रात बिताने के लिए रैन बसेरा बनाए गए हैं, लेकिन ठंड से बचाव को लेकर ये इंतजाम नाकाफी हैं। वहीं सुरक्षा व्यवस्था न होने से रैन बसेरों में नशेड़ी काबिज हो जाते हैं, जिससे सुरक्षा के मद्देनजर जरूरतमंद आना पसंद नहीं करते। इसके बाद जरूरतमंदों को फुटपाथ पर रात गुजारनी पड़ती है।

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जांच व सैनिटाइजर की कोई व्यवस्था नहीं है। शनिवार की देर रात हिन्दुस्तान प्रतिनिधि ने रोडवेज व मेडिकल कॉलेज के रैन बसरों का जायजा लिया, तो उसमें किए गए इंतजाम नाकाफी मिले। रैन बसेरे में न तो इंट्री करने के लिए रजिस्टर मिला और न ही ठंड भगाने के लिए अच्छी रजाई। गद्दों पर पड़ी रजाई इतनी पतली है कि उससे रात कटना मुश्किल होगा।

समय- 10:30 बजे, स्थान : रोडवेज

रोडवेज बस स्टेशन पर दूर-दराज से यात्रा कर आने वाले यात्रियों को ठहरने के लिए टीनशेड लगाकर रैन बसेरा बना दिया गया है। रात में पहुंचे मिहींपुरवा के धर्मपुर बेझा निवासी संदीप ने बताया कि वह जौनपुर से आया है। मिहींपुरवा जाने के लिए कोई साधन नहीं है। यहीं पर रात गुजारनी पड़ेगी। देवरिया जिले के बड़का गांव सरैया निवासी अशोक कुमार मौर्य यहां पहले से मौजूद थे। उसने बताया कि वह मिहींपुरवा जाएगा। कोई साधन न होने की वजह से रैन बसेरे में रुकना पड़ा। कहा कि रजाई पतली है। ठण्ड से राहत नहीं मिली तो उसे दो रजाई ओढ़ना पड़ा। न तो प्रकाश की पर्याप्त व्यवस्था है और न ही अलाव की। यहां मौजूद नगर पालिका कर्मचारी से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि रजिस्टर न होने से आने वाले यात्रियों की इंट्री नहीं हो पाई है। जल्द ही रजिस्टर की व्यवस्था होगी। उन्होंने बताया कि रैन बसेरे में अक्सर नशेड़ी कब्जा जमा लेते हैं। चोर-उचक्के भी पहुंच जाते हैं। जिससे यात्रियों का सामान आदि गायब हो जाया करता है। ऐसे में सुरक्षा व्यवस्था में पुलिस व होमगार्ड जवान की तैनाती होना जरूरी है।

समय- 11:30 बजे, स्थान : मेडिकल कॉलेज

मेडिकल कॉलेज स्थित रैन बसेरे में भी डाली गई रजाई में लोगों को ठंड नहीं जाएगी। रात लगभग 11 बजे नगर पालिका का एक कर्मचारी सन्नाटे में बैठा मिला। यहां सिर्फ 12 लोगों के ठहरने की व्यवस्था की गई है। उसने बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से एक और कर्मचारी की जरूरत है। क्योंकि मेडिकल कॉलेज में आए दिन चोर उचक्के लोगों के मोबाइल, पर्स गायब कर देते हैं।

epaper

संबंधित खबरें