DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बहराइच  ›  बहराइच-झमाझम बारिश के बीच हुई मतगणना, जीते प्रत्याशियों के चेहरे खिले
बहराइच

बहराइच-झमाझम बारिश के बीच हुई मतगणना, जीते प्रत्याशियों के चेहरे खिले

हिन्दुस्तान टीम,बहराइचPublished By: Newswrap
Mon, 14 Jun 2021 11:50 PM
बहराइच-झमाझम बारिश के बीच हुई मतगणना, जीते प्रत्याशियों के चेहरे खिले

बहराइच। संवाददाता

त्रिस्तरीय सामान्य चुनावों के बाद जिले के ग्राम पंचायत सदस्यों के 1820 पद खाली रह गए थे। ग्राम पंचायत सदस्यों की संख्या का कोरम पूरा न होने से जिले की 1044 ग्राम पंचायतों में से 61 असंगठित रह गई थी। इन ग्राम पंचायतों के गठन के लिए ग्राम पंचायत सदस्य पदों के लिए नामांकन पत्र आमंत्रित किए गए थे। जिसमें 51 वार्डों को छोड़कर सभी पर निर्विरोध चुनाव संपन्न हुआ था। 51 पदों के लिए 12 जून को मतदान कराया गया था। साथ ही 12 मार्च को जरवल ब्लॉक के बिबियापुर बसहियापाते के बीडीसी पद के लिए भी मतदान हुआ था। भारी बारिश के बीच सोमवार को ब्लॉक मुख्यालयों पर मतगणना शुरू हुई और एक-एक कर विजई प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की गई।

ग्राम पंचायत सदस्यों व बीडीसी के एक पद के लिए 12 जून को मतदान हुआ था। 9 ब्लॉकों के 22 ग्राम पंचायतों के लिए संपन्न हुए चुनाव में सभी विजई प्रत्याशियों के नामों की घोषणा सोमवार को की गई। भारी बारिश के बीच हुई मतगणना में ग्राम पंचायत सदस्यों से ज्यादा ग्राम पंचायत के प्रधान उत्साहित रहे। पंचायत सदस्यों की कमी के चलते यह ग्राम पंचायतें गठित नहीं हो पाई थी, और जीत हासिल करने के बाद भी प्रधानों को उनका अधिकार नहीं मिला था। सोमवार को हुई मतगणना में जरवल ब्लॉक के एक बीबीपुर बसहियापाते बीडीसी पद पर पूर्व ब्लॉक प्रमुख रह चुके स्वर्गीय राम सिंह वर्मा की पत्नी लीलावती ने जीत हासिल की।

इनसेट --------

35 वोटों से विजई रही पूर्व प्रमुख की पत्नी

जरवलरोड। जरवल ब्लॉक के ग्राम पंचायत बीबीपुर बसहियापाते में बीडीसी सदस्य जगन्नाथ की ओर से इस्तीफा देने के कारण यह सीट खाली हो गई थी। जगन्नाथ बीडीसी के साथ-साथ प्रधानी का चुनाव भी जीत गए थे, और उन्होंने बीडीसी पद को त्याग दिया था। जिसके लिए उपचुनाव करवाया गया था। सोमवार को हुई मतगणना के बाद इस वार्ड पर पूर्व प्रमुख की पत्नी ने जीत हासिल की है। जरवल ब्लॉक मुख्यालय पर हुई मतगणना में लीलावती पत्नी स्वर्गीय राम सिंह वर्मा को 429 मत मिले जबकि सुभाष वर्मा को 394 मत प्राप्त हुए, और लीलावती ने 35 वोटों से जीत हासिल कर ली।

संबंधित खबरें