DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बहराइच  ›  बहराइच-6.5 सेमी प्रतिघंटा बढ़ रहा घाघरा का जलस्तर, सरयू भी उफनाई
बहराइच

बहराइच-6.5 सेमी प्रतिघंटा बढ़ रहा घाघरा का जलस्तर, सरयू भी उफनाई

हिन्दुस्तान टीम,बहराइचPublished By: Newswrap
Sat, 19 Jun 2021 03:00 AM
बहराइच-6.5 सेमी प्रतिघंटा बढ़ रहा घाघरा का जलस्तर, सरयू भी उफनाई

बहराइच। संवाददाता

छह दिनों से लगातार रुक-रुक कर बारिश जारी है। पहाड़ों पर हो रही बारिश से लगातार नदियों का जलस्तर बढ़ रहा है। तेजी से बढ़ रहे जलस्तर के चलते बाढ़ आने की संभावनाएं तेज हो गई हैं, और बाढ़ग्रस्त इलाकों के लोग सकते में हैं। मिहींपुरवा तहसील के गिरजा बैराज पर घाघरा का जलस्तर 6.5 सेंटीमीटर प्रति घंटे के रफ्तार से बढ़ रहा है, जो चिंताजनक है। वहीं गोपिया बैराज पर सरयू नदी का जलस्तर भी 3 सेंटीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है। सरयू के जलस्तर बढ़ोत्तरी के साथ ही ब्लॉक क्षेत्र के कई गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। जिससे ग्रामीण सुरक्षित स्थानों पर जाने की तैयारी कर रहे हैं। वहीं मिहींपुरवा ब्लॉक के चहलवा ग्राम पंचायत में अभी भी पानी भरा हुआ है।

बारिश के चलते सभी तालाब व नाले पहले ही भर गए हैं। लोगों के खेतों में भी काफी पानी भरा हुआ है। वहीं नेपाल के पहाड़ों पर हो रही बारिश से नदियों का जलस्तर भी लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में जिले की तहसीलों के बाढ़ प्रभावित इलाकों में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। जिले की सभी नदियां लाल निशान को छूने को बेताब दिख रही हैं। वहीं बैराजों पर पानी का दबाव ज्यादा होने के चलते लगातार लाखों क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। गिरिजा बैराज के प्रभारी संतराम वर्मा ने बताया कि सुबह से लगातार घाघरा में जलस्तर बढ़ रहा है। सुबह 6 बजे घाघरा का जलस्तर 135.35 मीटर था जो शाम 5 बजे बढ़कर 136.05 पहुंच गया।

उन्होंने बताया कि बैराजों पर भी पानी का दबाव काफी बढ़ गया है। जिसके चलते भारी मात्रा में पानी छोड़ा जा रहा है। गिरिजा बैराज से सुबह 6 बजे जहां 1,34435 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है, वहीं शाम 5 बजे यह बढ़कर 2,35472 क्यूसेक पहुंच गया। हालांकि शारदा बैराज पर सुबह से पानी का प्रवाह कम हुआ है। सुबह जहां 68147 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा था वहीं शाम 5 बजे यह घटकर 25352 क्यूसेक रह गया। घाघरा का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है जो चिंताजनक है।

शाम 5 बजे घाघरा का जलस्तर 136.05 हो गया, जो खतरे के निशान से सिर्फ .73 सेंटीमीटर कम है। शारदा 134.60 मीटर पर बह रही है। सरयू बैराज के जेई कर्मवीर ने बताया कि सरयू सुबह 132 मीटर से बढ़कर अपरान्ह 2 बजे 132.25 मीटर पर पहुंच गई है। सरयू बैराज से 18538 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है।

शिवपुर-बौंडी व शिवपुर-रामपुर मार्ग प्रभावित, दर्जनों गांवों में घुसा पानी

शिवपुर ब्लॉक में सरयू नदी के पानी ने उफान मार दी है, और दर्जनों गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। इसके साथ ही शिवपुर बाजार से बौंडी जाने वाले मार्ग पर भी 500 मीटर की दूरी तक पानी बह रहा है। इसके साथ ही शिवपुर से रामपुर जाने वाले मार्ग पर डिलहवा बाबा मंदिर के पास भी भारी पानी चल रहा है। जिसके चलते आवागमन पूरी तरह बाधित हो गया है। ब्लॉक क्षेत्र के ग्राम नेवादा, तिगड़ा, एकघरा, पिपरिया, डल्लापुरवा, ललईपुरवा, बौंडी, पिपरिया, रायगंज आदि गांवों में भी बाढ़ का पानी घुस गया है। ग्रामीण नाव के सहारे बंधे पर शरण लेने की जुगत बना रहे हैं। वहीं दूसरी ओर सरयू का पानी लगातार बढ़ रहा है। जिससे कई अन्य गांवों में भी रात के समय बाढ़ का पानी घुसने की आशंका बनी हुई है।

जंगल गुलरिहा व बड़खड़िया के तुलसीपुरवा गांव में घुसा पानी

तहसील मिहींपुरवा में मोरहवा नाले से होते हुए बाढ़ का पानी तुलसीपुरवा, सम्पतपुरवा, गुप्तापुरवा आदि गांवों में घुस गया है। खेतों में भरे बाढ़ के पानी ने किसानों के मेहनत पर पानी फेर दिया है। पाई-पाई जोड़कर धान की खेती करने वाले किसान खेतों में डाली गई धान की नर्सरी के खराब होने को लेकर परेशान हैं। दोपहर 12 बजे के करीब मोरहवा पुलिया पर अचानक से पानी भर गया है, जिसके चलते क्षेत्र के तुलसीपुरवा गुप्तापुरवा संपतपुरवा आदि जगहों पर पानी भर गया जिसमें सैकड़ों ग्रामीण फंस गए हैं। ग्रामीणों को बाहर निकालने के लिए बडखड़िया के प्रधान जयप्रकाश, चहलवा प्रधान प्रीतम निषाद व पूर्व राज्य मंत्री बंशीधर बोध, नायब तहसीलदार शशांक उपाध्याय, इंस्पेक्टर सुजौली ओपी चौहान आदि मौके पर पहुंचे और प्रशासनिक मदद के तौर पर नाव भेजी है। वहीं मोरहवा पुलिया के पास पानी का बहाव इतनी तेज है कि किसी भी समय पुलिया के बहने की आशंका जताई जा रही है।

संबंधित खबरें