DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बहराइच  ›  बहराइच : कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों को बांटे नरेन्द्र अरहर प्रजाति के बीज
बहराइच

बहराइच : कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों को बांटे नरेन्द्र अरहर प्रजाति के बीज

हिन्दुस्तान टीम,बहराइचPublished By: Newswrap
Sun, 13 Jun 2021 11:40 PM
बहराइच : कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों को बांटे नरेन्द्र अरहर प्रजाति के बीज

बहराइच। संवाददाता

कृषि विज्ञान केंद्र नानपारा में रविवार को परीक्षण के लिए राष्ट्रीय खाद सुरक्षा मिशन के तहत किसानों को अरहर के बीज बांटे गए। अरहर की प्रजाति नरेंद्र अरहर दो का बीज वितरण मिहींपुरवा ब्लॉक के ग्राम परवानी गौढ़ी, छोटा भुलौरा व रिसिया के किसानों को किया गया। केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. वीपी शाही एवं सूर्य बली सिंह की ओर से किसानों को मेड़ों पर अरहर की बुवाई करने की सलाह दी गई।

कृषि वैज्ञानिक ने बताया कि खेत की तैयारी करते समय खेत में 60 -60 सेंटीमीटर दूरी पर लगभग 20 से 25 सेंटीमीटर ऊंची मेढ़ बना लें, फिर मेड़ों पर 25 से 30 सेंटीमीटर की दूरी हाथ से बीच की बुराई करें। ज्यादा क्षेत्रफल होने पर रेज बेड प्लांटर की दूरी पर बीज की बुवाई करें। इससे ज्यादा बारिश होने पर अरहर की फसल गलती नहीं है। इसके अलावा घास का नियंत्रण एवं दवाइयों के छिड़काव में भी आसानी रहती है। इससे बीज की भी बचत होती है एवं ज्यादा मात्रा में फलियां बनती है। खेती में लागत कम हो जाती हैं। खेत में नमी होने की दशा में 20 जून के बाद 15 जुलाई तक अरहर की बुवाई करें। प्रजाति नरेंद्र दो 240 से 250 दिन में तैयार हो जाती है। उपज लगभग 25 से 28 कुन्तल प्रति हेक्टेयर इसका दाना बड़ा होता है। बीज की बुवाई के पूर्व बीज को ट्राइकोडरमा एवं राइजोबियम से उपचारित करके बुवाई करें।

संबंधित खबरें