DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बहराइच  ›  बहराइच-10 शुभ मुहुर्तों में 1000 शादियां, फिर भी कारोबार सुस्त
बहराइच

बहराइच-10 शुभ मुहुर्तों में 1000 शादियां, फिर भी कारोबार सुस्त

हिन्दुस्तान टीम,बहराइचPublished By: Newswrap
Sat, 19 Jun 2021 03:01 AM
बहराइच-10 शुभ मुहुर्तों में 1000 शादियां, फिर भी कारोबार सुस्त

शुभ मुहूर्त- 19, 20, 22, 23, 24 जून व 1, 2, 5, 13, 15 जुलाई

बहराइच। संवाददाता

कोरोना संक्रमण के नए मामलों में गिरावट आई है, और सरकार की ओर से अनलॉक कर दिया गया है। शादी के कारोबार में लगे लोगों के व्यवसाय ने भी तेजी पकड़ी है, लेकिन शादी का कारोबार उम्मीद से काफी कम हो रहा है। जून व जुलाई में होने वाली अधिकतर शादियां या तो कैंसिंल हो गई हैं, अथवा लोग घरों में ही कम खर्चे में शादी निपटा रहे हैं। सबसे ज्यादा टेंट, फूल, कैटरिंग व मैरिज लॉन वालों का कारोबार प्रभावित दिखाई पड़ रहा है। आगामी शुभ मुहूर्तों में कारोबारी पहले की अपेक्षा लगभग 60 प्रतिशत कम कारोबार की उम्मीद जता रहे हैं।

शादी कारोबारियों के मुताबिक आगामी 10 शुभ मुहूर्तों में 1000 शादियां संपन्न होंगी। इसमें कैंसिल होने के कगार पर पहुंच चुकी 200 शादियां भी शामिल हैं। शहर में स्थित लगभग 100 रिजार्ट, मैरिज हॉल व लॉन 19 जून से 15 जुलाई के बीच केवल 40 प्रतिशत ही बुक हुए हैं। अनलॉक के बाद भी जारी लोगों की लिमिट के चलते ज्यादातर लोग घर पर ही शादी करवा रहे हैं।

10 लग्नों में मात्र 1 दिन बुकिंग

व्यापार मंडल के उपाध्यक्ष व ब्लिस रिसार्ट के प्रोपराइटर मनीष मल्होत्रा ने बताया कि मैरिज लॉन वालों का कारोबार एक दम ठप हो गया है। अनलॉक के बाद भी बुकिंग का टोटा है। ज्यादातर लोग धन के अभाव में लॉन बुक नहीं करवा रहे, घर में ही शादियां संपन्न करवा रहे हैं। उन्होंने बताया कि आगामी 10 लग्नों में मात्र 1 जुलाई में ही हॉल बुक है। करीब 20 शादियों की बुकिंग कैंसिल हो गई है।

कैटर्स ने बदला व्यवसाय, टेंट व फूल कारोबारियों की हालत खराब

रमन कैटरिंग कारोबार के मालिक अंशुमान यज्ञसैनी ने बताया कि आगमी लग्नों में उनके पास कोई भी काम नहीं हैं। अनलॉक होने के बाद भी कोई बुकिंग नहीं आई। जिसको देखते हुए रमन जलपान गृह नाम से रेस्टोरेंट खोल रहे हैं। उन्होंने बताया कि मेहमानों की संख्या कम होने के चलते शादी कर रहे लोग या तो एक दो हलवाइयों को बुला कर खाना बनवा ले रहे हैं, या फिर घर में ही खाना बनवाकर काम चला रहे हैं। टेंट कारोबारी विनोद जायसवाल ने बताया कि अनलॉक होने के बाद से काम मिला जरूर है, लेकिन काफी कम। आगामी 10 लग्नों में मात्र 4 बुकिंग ही मिली है, जबकि पूर्व में 20 से 30 बुकिंग रहती थी। व्यवसाय 90 प्रतिशत कम हुआ है। शादियों में फूल डेकोरेशन का कार्य करने वाले आलोक सैनी ने बताया कि करोबार 60 प्रतिशत रह गया है। जो कोरोबार हो भी रहा है वह सस्ते कीमतों पर हो रहा है, जिससे लागत निकालना भी मुश्किल हो रहा है।

सराफा व कपड़ा उद्योग से 20 करोड़ के कोरोबार की उम्मीद

आगामी शुभ मुहूर्तों में होने वाली शादियों के लिए लोग ज्वैलरी व कपड़े की दुकानों को रख कर रहे हैं। सर्राफा यूनियन के अध्यक्ष सुमित खन्ना ने बताया कि आगामी लग्ने बरसात की हैं। इन लग्नों में शादियां कम होती हैं। इन लग्नों में लगभग 10 करोड़ के कारोबार की उम्मीद है। अप्रैल- मई की लग्नों के समय कोरोना कर्फ्यू के चलते लगभग 40 करोड़ का नुकसान सराफा व्यवसाय को हुआ है। कपड़ा व्यवसाई अजीज अहमद ने बताया कि अनलॉक से व्यापार को गति मिली है। लोग शादियों के लिए कपड़ों की खरीदारी कर रहे हैं। आगामी मुहूर्तों में लगभग 10 करोड़ के व्यवसाय की उम्मीद है।

संबंधित खबरें