DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आधी अधूरी तैयारियों के साथ महिला अस्पताल हुआ शुरू

आधी अधूरी तैयारियों के साथ महिला अस्पताल हुआ शुरू

मंगलवार को आधी-अधूरी तैयारी के साथ मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने सीएमएस के साथ मिलकर महिला अस्पताल का फीता काटकर उद्घाटन किया तथा ओपीडी शुरू कर दी है। सीएमओ ने महिला अस्पताल की कमान चार महिला चिकित्सक व फार्मेसिस्ट के हाथों में सौंपी है।

कई वर्षो पहले महिलाओं को विशेष सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सरकार ने जिला अस्पताल परिसर में महिला चिकित्सालय की नीव रखी थी। जिसके निर्माण को पूरा हुए काफी समय हो गया, लेकिन अस्पताल का शुभांरभ नही हो पाया। शासन ने अस्पताल की कमान व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए हिन्दुस्तान लैटेक्स कंपनी को सौंपी है, लेकिन आधुनिक इमारत का संपूर्ण निर्माण होने के बावजूद भी अस्पताल शुरू नहीं हो सका था।

कंपनी शुरूआत से ही अस्पताल को शुरू करने के प्रयासों में जुटी हुई है। लेकिन अस्पताल शुरू नही हो सका। आखिरकार कोर्ट की अवमानना से बचने के लिए मंगलवार को सीएमओ सुषमा चंद्रा ने सीएमएस बीएल खुशवाह के साथ अस्पताल का उद्घाटन किया तथा ओपीडी शुरू कर दी है।

महिला अस्पताल की ओपीडी की कमान सीएमओ ने जिला अस्पताल से चार बाल रोग विशेषज्ञ चिकित्स व एक फार्मेसिस्ट के हाथो में सौंपी है। वही मरीजों को दबाई उपलब्ध कराने के लिए दबा वितरण कक्ष भी बनाया गया है।

कोर्ट की अवेहलना से बचने के लिए शुरू किया महिला अस्पताल

काफी समय से जिला अस्पताल परिसर में बने महिला अस्पताल के संचालन को लेकर हाईकोर्ट ने सीएमएस को तलब पर चिकित्सालय का व्योरा मांगा था। जिसे मई माह तक शुरू करने के लिए सीएमएस ने कोर्ट में हलफनामा भी पेश किया। लेकिन अभी तक भी अस्पताल का संचालन शुरू नही हो पाया।

कोर्ट की अवमानना से बचने के लिए सीएमएस ने सीएमओ के साथ मिटिंग कर मंगलवार को ही महिला चिकित्सालय में ओपीडी शुरू करा दी है।

तीन बार हो चुका शुभारंभ

पूर्व सरकार में महिला चिकित्सालय बनकर तैयार हो गया था। जिसका शुभारंभ पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लखनऊ में बैठे हुए अस्पताल का शुभारंभ किया। जिसके बाद सीएमएस ने भी अपने स्तर से ही फीता काटकर अस्पताल का शुभारंभ किया था। लेकिन उसके बाद भी यह शुरू नही हो सका। वही मंगलवार को अस्पताल का तीसरी बार शुभारंभ किया गया है।

सीएमओ ने दवाइयों की जांच की

ओपीडी का शुभारंभ करने के बाद सीएमओ सुषमा चंद्रा ने ओपीडी का निरीक्षण किया तथा चिकित्सकों ने कई महिलाओं का उपचार किया। इस दौरान सीएमओ ने मरीजों को दी जा रही दवाई की भी जांच पड़ताल की। अस्पताल में प्रथम दिवस ही दर्जनों मरीजों का उपचार किया गया है।

प्राईवेट कंपनी जब तक अस्पताल नही चलाती है, तब तक जिला अस्पताल की बाल रोग विशेषज्ञ व फार्मेसिस्ट सहित अन्य कर्मचारी रोगियों का उपचार करेंगे। अभी फिलहाल ओपीडी ही शुरू की गई है। जल्द ही अस्पताल को संपूर्ण रूप से शुरू कर दिया जायेगा। डा. सुषमा चंद्रा- सीएमओ, बागपत।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Women hospital begins with half-hearted preparations