DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिनौली: छह अप्रैल तक बंद रहेगा उत्खनन, ट्रेंच भरने का कार्य शुरू

सिनौली: छह अप्रैल तक बंद रहेगा उत्खनन, ट्रेंच भरने का कार्य शुरू

सिनौली गांव में एएसआई द्वारा कराए जा रहे उत्खनन कार्य पर कम से कम अगले 10 दिनों के लिए ब्रेक लग गया है। साइट पर जिन ट्रेंच से कोई पुरा संपदा प्राप्त नहीं हुई है, उन ट्रेंच को मिट्टी से भरना शुरू कर दिया गया है, स्मरण रहे कि डॉ. संजय मंजुल के निर्देशन में सिनौली में चल रहा तृतीय चरण का उत्खनन कार्य अपने अंतिम दौर में हैं।

यहां से जो पुरा संपदा प्राप्त हुई है, उसे जल्द ही ग्रेटर नोएडा में एएसआई के नए संस्थान में संग्रहित करने के लिए ले जाया जाएगा। पिछले कुछ दिनों से कार्य बंद हैं और अभी छह अप्रैल तक कार्य पर ब्रेक ही लगा रहेगा। इसका मुख्य कारण है क्लोजिंग माह। यहां पर चल रहे उत्खनन कार्य का लेखा-जोखा और ब्यौरा देने के लिए टीम दिल्ली में मौजूद हैं। शोधार्थी भी यहां से दिल्ली के लिए रवाना हो चुके हैं।

फिलहाल उन ट्रेंच को मिट्टी से भरना शुरू कर दिया गया है जिनसे कोई पुरा संपदा प्राप्त नहीं हुई है। अब सिनौली में छह अप्रैल या उसके बाद ही कार्य शुरू हो पाएगा। पॉट्री यार्ड के बगल वाले खेत में चलाए गए उत्खनन कार्य से दाह संस्कार की तीन भट्टियां प्राप्त हो चुकी हैं। इसके अलावा इस खेत से खास आकार-प्रकार के मिट्टी के बर्तन भी प्राप्त हुए हैं।

शहजाद राय शोध संस्थान के निदेशक डॉ. अमित राय जैन का कहना है कि दाह संस्कार के प्रयोग में लाई जाने वाली भट्टी 2005-06 के उत्खनन में भी प्राप्त हुई थी, लेकिन इस बार तीन भट्ठियां प्राप्त हुई हैं, जिससे इस बात की और अधिक प्रमाणिकता मिलती है कि सिनौली में दाह संस्कार की दग्ध प्रक्रिया को अपनाया जाता था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sinoli excavation Trench filling work will be closed until April 6