DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बागपत  ›  कफन चोरी प्रकरण में जेल में बंद सातों आरोपियों को मिली जमानत
बागपत

कफन चोरी प्रकरण में जेल में बंद सातों आरोपियों को मिली जमानत

हिन्दुस्तान टीम,बागपतPublished By: Newswrap
Wed, 02 Jun 2021 04:20 AM
कफन चोरी प्रकरण में जेल में बंद सातों आरोपियों को मिली जमानत

बड़ौत में श्मशान घाटों से कफन चोरी कर बेचने के मामले में मंगलवार को न्यायालय ने जेल में बंद सातों आरोपियों को जमानत दे दी है। जिन्हें जल्द ही न्यायालय से रिहा कर दिया जाएगा। इस मामले में व्यापारियों को जेल भेजने का जिलेभर में विरोध भी हुआ था।

अभियुक्त पक्ष के अधिवक्ता एड. राजुद्दीन ने बताया कि गत 10 मई को बड़ौत कोतवाली पुलिस ने एक मुकदमा दर्ज कर कफन चोरी करने वाले गिरोह का खुलासा करने का दावा किया था। जिसमें कुछ कपड़े बरामद कर बड़ौत शहर के कपड़ा व्यापारी प्रवीण कुमार जैन पुत्र श्रीपाल जैन, आशीष जैन उर्फ उदित जैन पुत्र प्रवीण, श्रवण कुमार शर्मा पुत्र राममोहन, ऋषभ जैन पुत्र अरविन्द, राजू पुत्र ईश्वर, बबलू पुत्र वेदप्रकाश, शाहरूख खान पुत्र मोबीन को जेल भेज दिया था। इस मामले में सभी व्यापारियों ने पुलिस कार्रवाई का विरोध किया था और मुकदमे की सुनवाई जिला जज के न्यायालय में चल रही थी। उन्होंने बताया कि मुकदमे में लगाई गई धाराओं पर न्यायालय में बहस हुई, जिसमें पुलिस द्वारा लगाये गए आरोपों का कोई पुख्ता सबूत भी नहीं मिला। जिसमें सुनवाई के बाद न्यायालस ने सातों आरोपियो को जमानत दे दी। उन्होंने बताया कि जल्द ही सभी को जेल से रिहा कर दिया जाएगा।

----

एएसपी हापुड़ कर रहे थे जांच

एड. राजुद्दीन ने बताया कि जिले में कफन चोरी प्रकरण में व्यापारी समेत सात लोगों को जेल भेजने के मामले में जिलेभर में विरोध किया गया । जिसमें पुलिस के उच्चाधिकारियों ने पहले बागपत पुलिस को जांच सौंपी थी। जांच में पक्षपात पूर्ण रवैया अपनाने पर आईजी मेरठ ने इसकी जांच एएसपी हापुड़ को दे दी थी। बताया जाता है कि एएसपी नेअपनी जांच वरिष्ठ अधिकारियों को सौंप दी है।

--

एसपी बागपत और बड़ौत पुलिस की भी हो रही खूब किरकरी

बागपत। कफन प्रकरण में कपड़ा व्यापारियों को झूठे फंसाने के मामले में बागपत एसपी और बड़ौत पुलिस की खूब किरकिरी हो रही है। इस मामले को लेकर भाजपा जिलाध्यक्ष सूरजपाल सिंह गुर्जर ने बागपत एसपी और बड़ौत पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए इसकी शिकायत मुख्यमंत्री से की थी। यहां तक कि जैन समाज के लोग भी एसपी के स्तर पर न्याय नहीं मिलने और सही जांच नहीं होने पर इसकी शिकायत आईजी और एडीजी तक से भी की थी। बड़ौत चेयरमैन अमित राणा, जैन समाज के अमित राय जैन ने मेरठ पहुंचकर पुलिस के उच्चाधिकारियों से शिकायत करते हुए एसपी और बड़ौत पुलिस पर वाहवाही लूटने के लिए कपड़ा व्यापारी को फंसाने का आरोप लगाया था। मामले को गंभीरता से लेते हुए आईजी मेरठ ने इसकी जांच एएसपी हापुड़ को सौंपी थी। बताया जाता है कि एएसपी ने अपनी जांच रिपोर्ट सौंप दी है। उधर पीड़ित व्यापारी के वकील राजुद्दीन का कहना है कि जनपद बागपत की पुलिस कफन चोरी प्रकरण में व्यापारियों के खिलाफ कोर्ट में कोई ठोस सबूत पेश नहीं कर पाए हैं। इसको लेकर एसपी और बड़ौत पुलिस की भी व्यापारी समाज में खूब किरकिरी हो रही है।

संबंधित खबरें