DA Image
22 जनवरी, 2021|1:38|IST

अगली स्टोरी

रालोद ने 26 सितंबर को धरने को सफल बनाने के लिए ताकत झोंकी

default image

कृषि विधेयक के विरोध में 26 सितंबर को बड़ौत तहसील में होने वाले धरने को सफल बनाने के लिए गुरुवार को रालोद नेताओं ने गांव-गांव नुक्कड़ सभाओं का आयोजन हुआ,जिसमें धरने को सफल बनाने के लिए रालोद के नेताओं ने पूरी तरह से ताकत झोंक दी।

रालोद नेता व पूर्व जिला पंचायत सदस्य संजीव मान के नेतृत्व में गुरुवार को शबगा व लूंब गांव में नुक्कड सभाए हुई। उधर चौगामा क्षेत्र के निरपुड़ा गांव में गुरुवार को रालोद के पूर्व विधायक वीरपाल राठी ने किसानों की बैठक में कहा कि सरकार द्वारा लाये गये तीनों अध्यादेश गलत है जो किसान विरोधी है। एमएसपी के बिना विधेयक लाना पूर्णतया गलत है सरकार किसानों को इसकी गारंटी दे। यह किसानों के हित मे नहीं है। इससे किसान कम्पनियों के आधीन हो जाएगा। सरकार कहती है कि किसान के बीच से बिचौलिया हटा दिया गया है जबकि किसान के बीच मे तो बिचौलिया था ही नहीं, किसान तो अपनी फसलों को खुद सीधे बेच रहा है। मंडी शुल्क अभी भी लगेगा।

सरकार किसानों को आंदोलन के लिए मजबूर कर रही है रालोद किसानों के साथ अन्याय नहीं होने देगा। किसान के गन्ने का बकाया भुगतान अभी तक सरकार नहीं दिला पायी है। बेरोजगारी इतनी बढ़ गयी कि पिछले 45 वर्षों में इतनी बेरोजगारी नहीं बढ़ी है। बैठक की अध्यक्षता बाबा भोलर सिंह संचालन नहार सिंह दरोगा ने किया। इस मौके पर विवेक चौहान , जगमेहर पंवार, बिजेंद्र राणा, प्रियव्रत राणा, हरबीर, सतेंद्र राणा, कालू कुरैशी, जयपाल, सोनू राणा, देशपाल, देशीन्द्र फौजी, प्रमोद खलीफा आदि मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ralod on September 26 staked strength to make the dharna a success