DA Image
30 सितम्बर, 2020|2:56|IST

अगली स्टोरी

प्रणब दा ने कहा था, यह पुस्तक विश्वभर में प्रसारित की जानी चाहिए

प्रणब दा ने कहा था, यह पुस्तक विश्वभर में प्रसारित की जानी चाहिए

बड़ौत के शहजाद राय शोध संस्थान में भारत के पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी के देहावसान होने पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में वक्ताओं ने पूर्व राष्ट्रपति को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। संस्थान के निदेशक इतिहासकार डॉ अमित राय जैन ने प्रणब मुखर्जी के साथ अपने संबंधों को याद करते हुए बताया कि प्रणब मुखर्जी एक दिग्गज नेता होने के साथ-साथ बेहतरीन इंसान भी थे, उनसे हमेशा कुछ ना कुछ सीखने को प्रेरणादायक मिलता था।

गौरतलब है कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने बड़ौत निवासी डॉ अमित राय जैन की पुस्तक ''सैक्रेड रिवर्स ऑफ़ इंडिया'' का विमोचन करने के साथ-साथ उसकी विस्तृत भूमिका भी लिखी थी जो कि बहुचर्चित हुई। समय-समय पर अमित राय पूर्व राष्ट्रपति से मिलकर देश समाज की परिस्थितियों पर चर्चा वार्ता किया करते थे।

प्रतिबंध से एकदम पहले पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दिल्ली स्थित राजाजी मार्ग पर उन्हें बुलाकर उनकी पुस्तक की समीक्षा करते हुए कहा था कि भारत की पवित्र नदियों पर आधारित यह पुस्तक पूरे विश्व में प्रसारित की जानी चाहिए।

आज पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के अचानक देहावसान हो जाने से इतिहासकार अमित राय जैन आहत हैं, उनका मानना है कि देश को प्रणब मुखर्जी जैसा समझदार दिग्गज एवं अनुभवी नेता मिलना दुर्लभ है। श्रद्धांजली सभा में अनुराग जैन, सुरेश चंद जैन, मूलचंद जैन, वीरेंद्र जैन, संजय जैन, शिखर चंद जैन, मनोज जैन आदि लोग उपस्थित थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Pranab da said this book should be broadcast worldwide