अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पॉलीटेक्निक के छात्र की चाकुओं से गोदकर हत्या

पॉलीटेक्निक के छात्र की चाकुओं से गोदकर हत्या

1 / 2नगर की रामबाग कॉलोनी के रहने वाले पॉलिटेक्निक के छात्र की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। उसका शव बुधवार सुबह बड़का के जंगल मे पड़ा...

पॉलीटेक्निक के छात्र की चाकुओं से गोदकर हत्या

2 / 2नगर की रामबाग कॉलोनी के रहने वाले पॉलिटेक्निक के छात्र की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। उसका शव बुधवार सुबह बड़का के जंगल मे पड़ा...

PreviousNext

नगर की रामबाग कॉलोनी के रहने वाले पॉलिटेक्निक के छात्र की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। उसका शव बुधवार सुबह बड़का के जंगल मे पड़ा मिला।

छात्र की मौत से उसके परिवार में कोहराम मच गया। नगर की रामबाग कॉलोनी का रहने वाला आकाश उर्फ आशु पुत्र प्रदीप नगर की बड़का रोड स्थित दिगंबर जैन पॉलिटेक्निक प्रथम वर्ष का छात्र था। उसके पिता प्रदीप ने बताया कि उनकी नगर की नेहरू रोड पर जूस की दुकान है।

मंगलवार को आकाश दुकान पर खाना देने के बाद अपने कॉलेज गया था, लेकिन वापस नहीं लौटा, परिजनों ने इसकी काफी तलाश की, लेकिन उसे कुछ पता नहीं लगा। मंगलवार शाम परिजनों ने कोतवाली पहुंचकर उसके लापता होने की सूचना पुलिस को दी। कोतवाल बीएस सिरोही ने उनसे कहा कि वह छात्र के फोटे लेकर आए। इस पर परिजनों ने बुधवार को फोटो लेकर आने की बात कही और कोतवाली से चले गए।

बुधवार सुबह आकाश का शव बड़का के जंगल में पड़ा मिला। उस की चाकू से गोदकर हत्या की गई थी। बड़का गांव का रहने वाला नरेन्द्र अपने खेत में गया तो उसने आकाश का शव अपने गन्ने के खेत में पड़ा देखा। किसान ने पुलिस को सूचना की। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की जानकारी ली।

कुछ देर बाद एसपी बागपत शैलेष कुमार भी घटना स्थल पर पहुंच गए। उन्होंने ग्रामीणों से घटना की जानकारी ली। शव के पास मिले स्कूल के कागजों से उसकी शिनाख्त हुई। पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम को भेजा। छात्र की मौत से उसके परिवार में कोहराम मच गया।

परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। मृतक के पिता ने अज्ञात में तहरीर दी। पुलिस ने पूछताछ के लिए मृतक छात्र के दो दोस्तों को हिरासत में लिया। कोतवाल बीएस सिरोही ने बताया कि हत्यारोपियों की तलाश की जा रही है। जल्द ही उन्हें पकड़ लिया जाएगा।

मोबाइल खोलेगा हत्या का राज

बड़ौत। आकाश की हत्या में पुलिस के हाथ अभी तक कुछ खास सुराग नहीं लगे हैं। परिजन भी किसी के साथ रंजिश होने की बात से इनकार कर रहे हैं। ऐसे में आकाश का मोबाइल फोन पुलिस के लिए सबसे बड़ा सहारा बना है। पुलिस ने आकाश के फोन नंबर की सीडीआर निकलवाने के लिए काम शुरू कर दिया है। उसके फोन को सर्विलांस पर लगाया जा रहा है, जिससे पता चले सके कि वह कहां-कहां गया और किन लोगों से उसने बात की।

पुलिस को आकाश के दोस्तों पर शक

बड़ौत। आकाश की हत्या में परिजन किसी से रंजिश होने की बात से इनकार कर रहे हैं। पुलिस को शक है कि आकाश की हत्या में उसके किसी दोस्त का हाथ हो सकता है। दोस्ती में किसी बात को लेकर हुए विवाद को पुलिस अभी तक हत्या का कारण मनाकर चल रही है।

पुलिस ने उसके दो दोस्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। दो भाइयों में छोटा था आकाशबड़ौत। नगर की रामबाग कॉलोनी के रहने वाले प्रदीप विश्वकर्मा के दो बेटे थे। बड़ा बेटा विशाल दिल्ली रहता है और सिंघावली अहीर स्थित एक कॉलेज से एलएलबी कर रहा है।

छोटा बेटा आकाश नगर के दिगंबर जैन कॉलेज में पॉलीटेक्निक प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रहा था। आकाश की हत्या के बाद उसके परिवार में कोहराम मच गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। उसके घर सांत्वना देने वालों का तांता लगा रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Polytechnic student knives murdered with knives