Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश बागपतपेपर लीक: दौड़ते रहे अफसर, अभ्यर्थी बोले-बेकार हो गयी मेहनत

पेपर लीक: दौड़ते रहे अफसर, अभ्यर्थी बोले-बेकार हो गयी मेहनत

हिन्दुस्तान टीम,बागपतNewswrap
Sun, 28 Nov 2021 07:50 PM
पेपर लीक: दौड़ते रहे अफसर, अभ्यर्थी बोले-बेकार हो गयी मेहनत

रविवार को जिले में 17 केंद्रों पर आयोजित परीक्षा में शामिल होने पहुंचे अभ्यर्थी पेपर लीक होने से निराश दिखाई दिये। जहां उन्होंने अपना दर्द भी बयां किया और पेपर लीक होने में शामिल आरोपियों को कड़ी सजा देने की मांग की। अभ्यर्थियों का कहना है कि कई महीने कड़ी मेहनत कर पेपर देने पहुंचे थे, लेकिन अब फिर से परीक्षा की तैयारी करनी होगी।

अभ्यर्थी रमेश कुमार ने बताया कि पहली पाली में परीक्षा के दौरान ही उन्हें पेपर लीक होने की सूचना दे दी गयी थी, जिसकी पुष्टि बाहर निकलते ही हो गयी। जिस पर अभ्यर्थी ने नाराजगगी जताई। अभ्यर्थी तितरौदा निवासी निशा खान का कहना है कि पिछले छह माह से कोचिंग लेकर परीक्षा की तैयारी कर रही थी। जिसमें पेपर भी काफी अच्छा आया। जिसे देखकर काफी खुश हो गयी थी, लेकिन परीक्षा खत्म होने से 15 मिनट पहले ही उन्हें सूचना दी गयी। उन्होंने कहा कि पेपर लीक होने से अभ्यर्थियों के साथ बहुत बुरा हुआ। अब फिर से मेहनत करनी होगी। बडौत निवासी अभ्यर्थी सृष्टि का कहना है कि पेपर लीक होने से मेहनत ख्ाराब हो गयी। ककडीपुर की निक्की का कहना है कि पेपर लीक में शामिल लोगों को कड़ी सजा दी जाए।

पेपर लीक की सूचना पर दौड़े अफसर, संभाला मोर्चा

जिले में 17 केंद्रों पर आयोजित परीक्षा में शामिल होने के लिए हजारों अभ्यर्थी केंद्रों पर पहुंचे, जहां पहली पाली में ही पेपर लीक होने की सूचना पुलिस व प्रशासनिक अफसरों को मिल गयी, जिस पर अफसर हरकत में आये और केंद्रों की तरफ दौड़ लगा दी। जिसमें एडीएम अमित कुमार, एएसपी मनीष मिश्रा सहित अन्य अधिकारियों ने बागपत के कई केंद्रों का निरीक्षण किया तो वहीं डीएम व एसपी ने भी केंद्रों की स्थिति पर नजर रखी। शासन से आदेश जारी होने तक अफसरों ने केंद्रों पर नजर रखी। वहीं हंगामा होने की स्थिति में पुलिसबल भी तैनात रहा।

आरोपियों पर होगी कड़ी कार्रवाई

बड़ौत। बागपत सांसद डॉ सत्यपाल सिंह का कहना था कि टीईटी परीक्षा का पेपर लीक करने वाले लोगों को योगी सरकार कड़ी से कड़ी कार्यवाही करेगी। यह बहुत गलत हुआ है, इसके लिए सॉल्वर गैंग पर कड़ी कार्यवाही भी जरूर की जाएगी।

पूर्व में भी हो चुकी है परीक्षाएं रद

बड़ौत। परीक्षा सॉल्वर गैंग किस कदर हावी है, जिसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अधिकांश प्रयोगात्मक प्रति परीक्षा में शिक्षा माफिया पूरी तरह से सक्रिय हो जाते हैं। पूर्व में ज्यादातर हो चुकी प्रतियोगात्मक परीक्षाए भी पेपर लीक होने के कारण निरस्त हो चुकी है। गौरतलब है कि बड़ौत क्षेत्र से सॉल्वर गैंग का पुराना नाता रहा है। यहां पर बड़े पैमाने पर परीक्षा सॉल्वर गैंग सक्रिय रहते है। पूर्व में दिल्ली, यूपी एटीएस, एसटीएफ की टीमों द्वारा यहां से काफी संख्या में सॉल्वरों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

एसपी बोले-बरती गयी कड़ी चौकसी

एसपी नीरज कुमार जादौन ने बताया कि पेपर लीक के मामले में बागपत जनपद का कोई कनेक्शन नहीं है। परीक्षा को लेकर जिलेभर में चौकसी बरती गयी। एसओजी व अन्य टीमें केंद्रों के बाहर तैनात रही।

जिले में 17 केंद्रों पर आयोजित परीक्षा में काफी संख्या में ऐसे भी अभ्यर्थी है, जो बीमारी के अलावा विभिन्न समस्याओं के चलते पहली पाली की परीक्षा से वंचित रह गए थे। जिसमें पेपर लीक होने के बाद एक माह बाद दोबारा परीक्षा की सूचना पर ऐसे अभ्यर्थियों को राहत मिली, जो दूसरी बार होने वाली परीक्षा में शामिल हो सकेंगे।

epaper

संबंधित खबरें