DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब बंदियों की करतूत पर तीसरी का रहेगा पहरा

अब बंदियों की करतूत पर तीसरी का रहेगा पहरा

बागपत की जिला जेल में बंदियों की करतूत पर तीसरी आंख की नजर रहेगी। शासन के आदेश पर जेल में 30 सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए है।

इनमें पांच कैमरे आधुनिक माडल के लगाए गए है। जो पूरी जेल की गतिविधि पर नजर रखेंगे।

बागपत जिला जेल का शुभारम्भ 16 मई 2016 में हुआ था। जेल की क्षमता 660 बंदियों की है, लेकिन उसमें बुधवार तक 889 बंदी बंद हो चुके है। बंदी रक्षकों की कमी के चलते ये बंदी आए दिन जेल में बवाल करते रहते है। कुख्यात किस्म के बंदी तो जेल से ही फोन की घंटी घन-घनाते है।

लोगों को तरह-तरह की धमकियां देने के साथ-साथ रंगदारी वसूलते हैं। संसाधनों की कमी के चलते जेल प्रशासन को उनकी इन कारगुजारियों का पता नहीं चल पा रहा है।

मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद शासन ने जेल में सभी संसाधन मुहैया कराने का निर्णय लिया था। सुरक्षा के लिए जेल में अब 30 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। ये कैमरे तन्हाई बेरिक, बंदी आहाता, भोजनशाला, मैदान, मुलाकात घर, मैन गेट और तलाशी गेट पर लगाए गए हैं।

पीटीजैड मॉडल के पांच आधुनिक कैमरे जेल के टावरों पर लगाए गए हैं। कैमरों का कंट्रोल रूम जेल अधीक्षक के कार्यालय में बनाया गया है। वहां पर बड़ी एलसीडी और डीबीआर लगाया गया है। जेल अधीक्षक सुरेश कुमार सिंह ने बताया कि पीटीजैड मॉडल के ये कैमरे 360 डिग्री पर घूमेंगे। जिससे समूची जेल पर नजर रखी जा सकेगी। उन्होंने बताया कि जल्द ही और कैमरों की डिमांड शासन को भेजी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Now the guard of the prisoners will be guarded by the third