Joint survey work to end UP-Haryana dispute from November 25 - यूपी-हरियाणा विवाद समाप्त करने को 25 नवंबर से होगा संयुक्त सर्वे कार्य DA Image
17 फरवरी, 2020|10:17|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी-हरियाणा विवाद समाप्त करने को 25 नवंबर से होगा संयुक्त सर्वे कार्य

यूपी-हरियाणा विवाद समाप्त करने को 25 नवंबर से होगा संयुक्त सर्वे कार्य

पिछले कई दशक चला आ रहा उप्र हरियाणा सीमा विवाद को समाप्त करने के लिए एक बार फिर से दोनों ही प्रदेशों के प्रशासनिक अधिकारियों ने काम करना शुरू कर दिया है। बुधवार को इस विवाद को समाप्त करने के लिए शासन से नामित नोडल अधिकारी/डीएम बागपत ने दोनों ही प्रदेशों के अधिकारियों के साथ विचार मंथन कर आगामी 25 नवंबर से लेकर 1 दिसबंर तक संयुक्त सर्वे कराने का निर्णय लिया।

सर्वेक्षण के बाद एक बार फिर से चिन्हित जगहों पर स्थायी तौर स्तम्भ यानि पिलर लगाने काम किया जाएगा। बाद में इसका सर्वे ऑफ इंडिया से भी सर्वे कराने को लेकर विचार विमर्श किया गया जिससे कि किसी भी तरह का दुबारा से सीमा विवाद की स्थिति उत्पन्न न हो सके। बुधवार की दोपहर 12 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में उप्र के बागपत व शामली एवं हरियाणा के जनपद पानीपत व सोनीपत की संयुक्त बैठक बागपत डीएम/नोडल अधिकारी शकुंतला गौतम की अध्यक्षता में की गई।

बैठक में डीएम ने उप्र के जनपद बागपत पर हरियाणा के जनपद सोनीपत व पानीपत के मध्य सीमा स्तंभों का दोनों राज्यों की संयुक्त राजस्व टीम द्वारा संयुक्त सर्वेक्षण करने के निर्देश दिए । बैठक में निर्णय लिया गया कि 25 नवंबर से 2 दिसंबर तक सोनीपत व बागपत का संयुक्त सर्वे किया जाएगा । जबकि 3 दिसंबर से 7 दिसंबर तक बागपत पानीपत का संयुक्त सर्वे किया जाएगा।

इसके अलावा 25 नवंबर से 30 नवंबर तक शामली व पानीपत का संयुक्त सर्वे किया जाएगा । खास बात यह है कि बागपत सीमा पर लगाए गए सभी 236 स्तम्भ/पिलर विलुप्त, शामली के 228 में से 196 विलुप्त हो गए हैं।बता दें कि यमुना नदी खादर क्षेत्र में अक्सर फसलों की बुवाई व कटाई के समय बागपत एवं सोनीपत और पानीपत के किसानों की बीच विवाद होता रहा है। यहां तक कि विवाद खूनी संघर्ष में तब्दील हो जाता है।

करीब 15-20 दिन पूर्व बागपत के निवाड़ा गांव के किसानों के साथ हरियाणा के एक गांव के किसानों ने फसल काटने पर मारपीट कर दी थी। यहां तक कि उसके ट्रैक्टर-ट्राली तक छीन लिए थे। बाद में हरियाणा पुलिस ने ट्रैक्टर वापस दिलाया था।

बागपत जनपद के 27 गांवों का चला आ रहा सीमा विवाद

दीक्षित अवार्ड के अंतर्गत निर्धारित सीमाओं पर सर्वे ऑफ इंडिया द्वारा स्थापित सीमा स्तंभों का विवरण संयुक्त जनपद बागपत व पानीपत के बाउंड्री पिलर का विवरण में जनपद बागपत के 7 गांव है, जिसमें 159 पिलर संबंधित मामला है जो स्थापित कराए जाएंगे।

जिसमें उत्तर प्रदेश द्वारा 79 जबकि हरियाणा सरकार द्वारा 80 पिलर्स हैं। जबकि जनपद बागपत व सोनीपत के बाउंड्री पिलर में जनपद बागपत के 20 गांव हैं जिसमें 313 पिलर्स है। जिसमें उत्तर प्रदेश द्वारा 157, हरियाणा द्वारा 156 है। जनपद बागपत के 27 गांव में सोनीपत व पानीपत के साथ 472 पिलर्स मामला है जिसकी वजह से विवाद रहता है जिसका जल्दी समाधान किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि बागपत जनपद के कुल 27 गांव ऐसे हैं जिनका पानीपत और सोनीपत के बीच सीमा विवाद चल आ रहा है। सीमा विवाद में करीब 4500 हजार हेक्टेयर जमीन जमीन विवाद में फंसी हुई है। इनमें करीब 2850 हजार हेक्टेयर जमीन बागपत और 1750 हेक्टेयर जमीन हरियाणा के किसानों का होना बताया जा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Joint survey work to end UP-Haryana dispute from November 25