DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जम्मू-कश्मीर के पल्लेदारों के पास नहीं मिली आईडी, काम से रोका

जम्मू-कश्मीर के पल्लेदारों के पास नहीं मिली आईडी, काम से रोका

पुलवामा में हुई आंतकी घटना ने लोगों के दिलो दिमाग को झकझोर कर रख दिया है। इसके चलते कश्मीरियों पर लोगों की निगाह टेढ़ी हैं। बुधवार को विपणन अधिकारी ने एफसीआई कार्यालय में काम कर रहे चार कश्मीरी पल्लेदारों को बिना आईडी दिखाए काम करवाने से इनकार कर दिया। साथ ही पुलिस को भी सूचना दी।

एक माह पूर्व जम्मू कश्मीर के कुलजीत, करतार, सरेश व गुड्डू को नगर के पुराना कस्बा निवासी ठेकेदार हारुण मजदूरी कराने को लेकर आया था। सभी मजदूर फिलहाल मेरठ रोड पर किराए के मकान में रहते हैं। बताया गया कि चारों मजदूर बिना सत्यापन के ही विपणन कार्यालय में काम कर रहे थे। उधर, पुलवामा में हुई आतंकी घटना से सीख लेते हुए विपणन अधिकारी एवं मार्केटिंग इंस्पेक्टर संदीप कुमार ने बुधवार को चारों मजदूरों से आईडी मांगी, जिसपर मजदूरों ने आईडी मकान मालिक के पास होने की बात कही।

इसके चलते मार्केटिंग इंस्पेक्टर ने मजदूरों से काम करवाने से साफ इनकार कर दिया तथा ठेकेदार को तलब किया। उन्होंने कहा कि बिना आईडी किसी भी मजदूर से कार्यालय में काम नहीं कराया जाएगा। वहीं पुलिस भी उक्त मजदूरों पर नजर बनाए हुए हैं। कोतवाली प्रभारी शिव प्रकाश सिंह का कहना है कि मजदूरों के मकान पर जाकर चेकिंग की जाएगी। वहीं ठेकेदार को भी बिना सत्यापन किसी भी मजदूर को काम पर न रखवाने की चेतावनी दी है।

बाहर के प्रदेशों से बागपत में मजदूरी कर रहे प्रत्येक व्यक्ति को सत्यापन के बाद ही जिले में काम करने दिया जाएगा। इस संबंध में व्यापारी, उद्योगपति आदि से उनके यहां कार्यरत मजदूरों की सूची मांगी गई है। पुलिस वेरीफिकेशन के बाद ही ऐसे बाहरी मजदूरों से काम कराया जाए।

-शैलेश कुमार पांडेय, एसपी बागपत।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:J K planners did not get ID prevented from working