DA Image
27 अक्तूबर, 2020|5:37|IST

अगली स्टोरी

महत्वपूर्ण: कृष्ण हत्याकांड: हाइवे पर शव रखकर धरने पर बैठे परिजन, दौड़े अफसर

default image

-कई दिन पहले गाली देने को लेकर हुए खूनी संघर्ष में घायल कृष्ण ने दिल्ली के अस्पताल में तोड़ दिया था दम

सचित्र-

बागपत। संवाददाता

कोतवाली क्षेत्र के काठा गांव में छह दिन पूर्व शुक्रवार को दो पक्षों के बीच हुए खूनी संघर्ष में घायल कृष्ण की मौत होने के बाद बुधवार को शव गांव पहुंचा। परिजन शव को लेकर दिल्ली-सहारनपुर हाइवे पर लेकर धरना देकर बैठ गए। जिस पर अफसरों को दौड़ लगानी पड़ी। जहां पुलिस ने दबिश देकर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

विदित हो कि गत शुक्रवार की रात्रि कोतवाली क्षेत्र के काठा गांव में गाली गलौच देने से मना करने पर रामवीर कश्यप व कालू के परिवार के बीच खूनी संघर्ष हो गया था। जिसमें कृष्ण और सतपाल गंभीर रूप से घायल हो गए थे। जिनका दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में उपचार चल रहा था। खूनी संघर्ष में कृष्ण के बेटे मोहित ने कोतवाली में कालू पक्ष के पप्पू, देवेंद्र कंवर सिंह, सभाचंद, राहुल, रवि, नितिन, दीपक व कालू को नामजद करते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। घायल कृष्ण की अस्पताल में मौत हो गई है। बुधवार को मृतक का शव गांव लाया गया। जहां परिवार वाले शव लेकर दिल्ली-सहारनपुर हाइवे पर धरना देकर बैठ गए और शव का अंतिम संस्कार क रने से इनकार कर दिया। जिस पर पुलिस अधिकारी दौड़ पड़े। मृतक के परिजनों ने आरोपियों पर एनएसए लगाने और जल्द गिरफ्तार करने की मांग की। इस मुकदमे में आरोपी कालू पहले जेल भेजा जा चुका है, जबकि बुधवार को नितिन समेत दो को गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद परिवार वाले अंतिम संस्कार के लिए तैयार हुए। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक नोवेंद्र सिरोही का कहना है कि दो आरोपी बुधवार को गिरफ्तार किए गए है, अन्य की तलाश में ताबड़तोड़ दबिश दी जा रही है।

30बाग23: काठा गांव में घर के बाहर शव रखकर बैठक मृतक के परिजन।

30बाग24: घटना की जानकारी देता युवक।

30बाग25 व 26: हाइवे पर हंगामा कर रहे ग्रामीणों को समझाते पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी।

---निशांत--झा--

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Important Krishna massacre family members sitting on dharna keeping corpses on the highway