DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बागपत  ›  हिन्दुस्तान अभियान: दूसरी लहर के 27 दिनों में 64 लोगों को निगल गया कोरोना

बागपतहिन्दुस्तान अभियान: दूसरी लहर के 27 दिनों में 64 लोगों को निगल गया कोरोना

हिन्दुस्तान टीम,बागपतPublished By: Newswrap
Sat, 15 May 2021 03:30 AM
हिन्दुस्तान अभियान: दूसरी लहर के 27 दिनों में 64 लोगों को निगल गया कोरोना

बागपत। निशांत भारद्वाज

कोरोना वायरस का संक्रमण की दूसरी लहर लोगों के लिए जानलेवा साबित हो रही है। जिसका अंदाजा इसी बात से लगा सकते है कि मार्च 2020 में शुरू हुए कोरोना वायरस के संक्रमण से जहां 12 महीनों में 36 लोगों की मौत हुई, जबकि दूसरी लहर के 27 दिनों में कोरोना वायरस का संक्रमण 64 लोगों की जिंदगी लील गया। जिससे लोगों में संक्रमण को लेकर दहशत का माहौल बना हुआ है।

वर्ष 2020 के मार्च माह में कोरोना वायरस का संक्रमण का कहर बागपत जनपद में भी शुरू हो गया था। जिसमें मार्च माह में पहला केस सामने आने के बाद बागपत जनपद में संक्रमण ने रफतार पकड़ ली। जिसके चलते लॉकडाउन का पालन कराने के लिए पुलिस ने पूरी ताकत झोंक दी थी। जिसके चलते बागपत जनपद में कोरोना वायरस का संक्रमण पूरी तरह जड़े नहीं जमा सका। हालांकि बागपत जनपद के कोरोना संक्रमितों का इलाज खेकड़ा के कोविड एल-टू अस्पताल के साथ सर्वोदय पब्लिक स्कूल में बने कोविड अस्पताल के अलावा मेरठ मेडिकल, गाजियाबाद के कोविड अस्पतालों में कराया गया। जिसके चलते कोरोना वायरस के संक्रमण की पहली लहर में बागपत जनपद के 36 कोरोना संकमितों की मेरठ व गाजियाबाद के अस्पतालों में मौत हो गई, जबकि अन्य सभी संक्रमित स्वस्थ्य होकर लौट आए थे।

वर्ष 2021 में कोरोना वायरस के संक्रमण की दूसरी लहर ने लोगों को संक्रमित करना शुरू कर दिया, जो पहली लहर से काफी घातक और जानलेवा साबित रही। जिसके चलते विगत अप्रैल माह में बागपत जनपद में बड़ी तादात में मरीज संक्रमित हो गए। जहां बुखार, खांसी, जुकाम ने भी संक्रमण को बढ़ावा दिया। वहीं जिले में अप्रैल और मई माह में मौतों का आंकड़ा तेजी से ऊपर उठा। दूसरी लहर में 17 अप्रैल को सबसे पहले मरीज की मौत हुई थी, जबकि महज 27 दिन के अंदर कोरोना वायरस का संक्रमण 64 लोगों की जिंदगी लील गया।

मौंतों का आंकड़ा दे रहा भयावहता की आहट

जिले में बुखार का कहर चहूंओर चल रहा है, जिसमें जानलेवा बुखार ने बड़ी तादात में लोगों को जकड़ रखा है। जिले के ग्रामीण व शहरी इलाकों में बुखार से ग्रस्त मरीजों की मौत के आंकड़े लगातार तेजी से बढ़ते जा रहे है।

रोंगटे खड़े कर रहा एंबुलेंस का सायरन

कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच कराने के बाद एंबुलेंस के जरिये संक्रमितों को अस्पतालों तक पहुंचाने का काम किया जा रहा है। जिसके चलते सड़कों पर दौड़ रही एंबुलेंस का सायरन भी दिनभर बजता रहता है, जो लोगों के मन में दहशत का माहौल पैदा कर रोंगटे खड़े कर रहा है। इसके अलावा लगातार मौत होने की जानकारी होते ही लोग संक्रमण की दहशत में है।

कोट-

कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए गांवों व शहरी इलाकों में सेनेटाइजेशन व साफ-सफाई का कार्य चल रहा है। सभी अस्पतालों में कोविड की जांच कराई जा रही है और होम आइशोलेशन में रहने वालों को दवाओं की किट मुहैया कराई जा रही है। इसके अलावा गंभीर मरीजों को कोविड अस्पताल में भर्ती कराकर ऑक्सीजन से लेकर वैंटिलेटर की सुविधा दी जा रही है।

डा. यशवीर सिंह, डिप्टी सीएमओ बागपत।

संबंधित खबरें