DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बागपत › कई गांवों के किसानों का ट्रैक्टर सहित कलेक्ट्रेट में धरना, मुआवजे की मांग
बागपत

कई गांवों के किसानों का ट्रैक्टर सहित कलेक्ट्रेट में धरना, मुआवजे की मांग

हिन्दुस्तान टीम,बागपतPublished By: Newswrap
Mon, 26 Jul 2021 10:41 PM
 कई गांवों के किसानों का ट्रैक्टर सहित कलेक्ट्रेट में धरना, मुआवजे की मांग

दिल्ली देहरादून इकोनामी एक्सप्रेसवे के लिए अधिग्रहित होने वाली जमीन के उचित मुआवजे की मांग और कलेक्ट्रेट में आपत्तियों का निस्तारण नहीं किया जाने के विरोध में जिले के कई गांव के किसान सोमवार को ट्रैक्टरों में सवार होकर कलक्ट्रेट पहुंचे और धरना देकर बैठ गए। जहां किसानों ने डीएम को ज्ञापन देकर उचित मुआवजा व आपत्तियों का भी निस्तारण कराने की मांग की। जहां आपत्तियों का निस्तारण नहीं होने पर जमीन नहीं देने की चेतावनी दी।

सोमवार को मवीकलां, अग्रवाल मंडी टटीरी, संतोषपुर बाघू, टीकरी समेत 27 गांवों के किसान एकत्रित होकर कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहां किसानों ने धरना देते हुए बताया कि दिल्ली देहरादून इकोनोमी कोरिडोर में 3ए आपत्तियों की सुनवाई के बिना ही 3डी का प्रकाशन कर दिया गया और किसानों को आपत्तियों का नोटिस एक सप्ताह बाद दिया गया। इसके अलावा कोरिडोर का चिन्हांकन कराने की मांग की। उन्होने बताया कि अग्रवाल मंडी टटीरी रिकार्ड में ग्रामीण इलाके में दर्जहै, जबकि 3ए व 3डी के नोटिफिकेशन में शहरी दर्शाया गया है, जिससे मुआवजा कम देना पड़े। इसके अलावा उचित मुआवजा देने समेत 13 मांगों का एक ज्ञापन सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी के नाम कलेक्ट्रेट में अफसरों को सौंपा। जहां किसानों ने कहा कि उनकी आपत्तियां दर्ज करने में भी आनाकानी की जाती है, इसके अलावा कई बिंदुओं पर फैली भ्रम की स्थिति को भी स्पष्ट करने की मांग की। किसानों ने चेतावनी दी कि उनकी आपत्तियों का निस्तारण नहीं होने और उचित मुआवजा नहीं मिलने पर जमीन अधिग्रहित नहीं होने देंगे। कलेक्ट्रेट में धरना देने वालों गन्ना समिति के चेयरमैन एवं भाजपा नेता कृष्णपाल सिंह, महावीर, जितेंद्र, ब्रहमसिंह, जवारसिंह, लेख्राम, पीतम, धीरसिंह, अमित, विक्की, बिजेंद्र, रामकुमार, सतेंद्र आदि शामिल रहे।

संबंधित खबरें