DA Image
1 जनवरी, 2021|10:25|IST

अगली स्टोरी

दिल्ली में धरने पर बैठे मौजिजाबाद नांगल के किसान की मौत

default image

कृषि कानून के विरोध में गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे किसानों के धरने में शामिल मौजिजाबाद नांगल भगवान पुर के किसान की मौत हो गई। किसान की मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में कोहराम मचा। गांव में मातम छा गया।

मौजिजाबाद नांगल भगवानपुर गांव निवासी तीन सगे भाई आजाद सिंह, गलतान सिंह व जयदेव पुत्रगण मोहर सिंह गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे किसानों के धरने पर उनके साथ बैठे है। ग्रामीणों के अनुसार आजाद सिंह पहले दिन से ही गाजिपुर बार्डर पर धरने पर बैठे हुए हैं,जबकि गलतान सिंह व जयदेव धरने पर आते-जाते रहते थे। पिछले कुछ दिनों से तीनों भाई वहीं पर धरने पर बैठे हुए थे। शुक्रवार को गाजीपुर बार्डर पर धरने पर बैठे 52 वर्षीय गलतान सिंह की ठंड के कारण मौत हो गई। मृतक गलतान सिंह के छोटे बेटे गौरव ने बताया गया कि शुक्रवार दोपहर धरने में शामिल उसके चाचा जयदेव ने घर फोन कर बताया कि गलतान सिह के सीने में दर्द की शिकायत है जिसपर उसे पास ही में एक अस्पताल में उपचार के लिए ले गए जहां उसकी मौत हो गयी। चिकित्सक ने परिजनों से ठंड के कारण मौत बतायी है। वहीं गलतान सिंह की मौत की सूचना पर उसके परीजनों में कोहराम मच गया। परिवार में मां बाला, पत्नी बबली, बेटे मोनू व गौरव मोनू की पत्नी प्रिया बच्चे पंछी व मनित है। बताया कि गलतान जिस दिन से गाजीपुर बॉर्डर पर धरना शुरू हुआ था उसी दिन से वहीं था। बीच मे एक दिन के लिए घर आया था जो 30 दिसम्बर को फिर वापस चला गया था। परिजनों से यह कहकर गया था कि यहां खेती तुम देखो हम तीनों भाई बड़ा आजाद, गलतान व छोटा जयदेव धरने पर जा रहे है। तीनो भाइयों के अलावा गलतान का बेटा मोनू भी उनके साथ धरने में ही शामिल रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Farmer of Mojizabad Nangal killed while on strike in Delhi